UP News: पांचवी पास बना पुलिस इंस्पेक्टर चार हज़ार की खरीदी वर्दी, अब लगा पुलिस के हाथ

Sahab Ram
3 Min Read

उत्तर प्रदेश के आगरा में नेशनल हाईवे के अबुल उलाह कट पर वर्दी पहने एक युवक फर्जी इंस्पेक्टर बनकर वाहनों की चेकिंग कर रहा था. मोबाइल से फोटो खींचने के बाद चालान काटने की धमकी देकर पैसे वसूल रहा था।

मामले की जानकारी न्यू आगरा थाना पुलिस को मिली. जब इंस्पेक्टर पहुंचे तो पहले तो खाकी और तीन स्टार देखकर चौंक गए। प्रणाम करने के बाद जांच करने का कारण पूछा।

बातों ही बातों में पता चल गया असली और नकली का फर्क. फर्जी इंस्पेक्टर की पुष्टि होने पर आरोपी को पकड़ लिया गया।

डीसीपी सिटी सूरज राय ने बताया कि आरोपी राजपुर चुंगी निवासी देवेंद्र उर्फ राजू है। उसने इंस्पेक्टर की वर्दी पहन रखी थी. तीन स्टार भी लगे हुए थे. पुलिस की तरह जूते भी पहने हुए थे.

वह ड्राइवरों को धमका रहा था. शिकायत मिली थी कि एक इंस्पेक्टर वाहनों से वसूली कर रहा है। मोबाइल से फोटो खींचकर चालान काटने की धमकी दी। इस पर कार्रवाई की गयी. चौकी प्रभारी मांगेराम को भेजा गया।

पहले तो चौकी प्रभारी भी उसे इंस्पेक्टर समझने लगे। इसलिए वह किसी वरिष्ठ अधिकारी की तरह बात करने लगा. लेकिन, कुछ ही देर में देवेन्द्र की पोल खुल गई। वह पकड़ा गया।

चार हजार रुपये में बन गये पुलिसवाले

आरोपी देवेन्द्र चार हजार रुपए में पुलिसकर्मी बन गया। पुलिस पूछताछ में पता चला कि वह कक्षा पांच तक पढ़ा है। कोरोना काल से पहले बिजलीघर स्थित एक दुकान से वर्दी खरीदी थी।

वह लॉकडाउन के दौरान सड़कों पर निकलते थे. वर्दी पहने होने के कारण उसे कोई नहीं रोक सका। बाद में वर्दी की मदद से वह ऑटो और बस में सफर करने लगा।

वर्दी देखकर ड्राइवर घबरा जाते थे। किराया नहीं मांगा. जब भी मैं शॉपिंग के लिए किसी दुकान पर जाता था तो मुझे डिस्काउंट भी मिलता था.

फिलहाल वह कोई काम नहीं कर रहा था. उनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी. इसी वजह से उसने सोचा कि वह वाहन चालकों से रकम वसूल करेगा. चालान के डर से वे स्वत: ही राशि का भुगतान कर देंगे. इससे वह अपना खर्चा चला सकेंगे.

शिकायत से पकड़ा गया आरोपी
थानाध्यक्ष राजीव कुमार ने बताया कि आरोपित देवेन्द्र के पास से 2015 रुपये बरामद किये गये। इसकी वसूली उसने ऑटो चालकों से की थी.

इस मामले में आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी और जबरन वसूली की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था. उसके खिलाफ हरीपर्वत थाने में पहले से ही चोरी का मामला दर्ज है।

आरोपियों ने बताया कि अबुल उल्लाह कट पर पुलिस की मौजूदगी बहुत कम रहती है. इस कट पर ऑटो और बसें खड़ी रहती हैं। उनके ड्राइवरों को डरा-धमका कर पैसे वसूलेंगे. लेकिन, किसी ने शिकायत कर दी. वह पकड़ा गया।

 

Share This Article
Leave a comment