भारत का स्विट्जरलैंड जिसकी सुंदरता जीत लेगी आपका मन , नहीं करना होगा लाखो का खर्च

Sahab Ram
4 Min Read

 

Yuva Haryana ओडिशा राज्य, भारत का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है जो अपने प्राकृतिक सौंदर्य, ऐतिहासिक मंदिरों, और रोमांचक कहानियों के लिए प्रसिद्ध है। हालांकि, जब बात उत्तर भारत के पर्यटन स्थलों की होती है, तो अक्सर हर किसी का ध्यान पहाड़ों, बर्फीली जलवायु और हरियाली की ओर जाता है। लेकिन भारत के पूर्वी तट पर स्थित ओडिशा राज्य में भी बहुत सारे अद्भुत स्थान हैं जो यात्रियों को आकर्षित करते हैं। इस राज्य को ‘भारत का खजाना’ और ‘भारत का सम्मान’ कहा जाता है, और इसमें कोरापुट भी शामिल है।

कोरापुट: प्राकृतिक रमणीयता का प्रतीक

कोरापुट ओडिशा के दक्षिणी ओर स्थित एक छोटा सा शहर है, जो प्राकृतिक सौंदर्य से ओत-प्रोत है। यहां के हरे-भरे मैदान, जंगल, झरने और संकरी घाटियां पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती हैं। इस जिले का क्षेत्रफल 8534 वर्ग किलोमीटर है और यह बंगाल की खाड़ी के बेहद करीब स्थित है। यहां के दुगुमा-बगरा और खंडाती झरने भी प्राकृतिक सौंदर्य का अद्वितीय अंग हैं, जो इस जगह को और भी आकर्षक बनाते हैं।

गुप्तेश्वर गुफाएं

कोरापुट में बने मंदिर, मठों, और मध्यकालीन स्मारकों को देखकर आपका मन मोह जाएगा। यहां के गुप्तेश्वर गुफाएं भी आद्यात्मिक गतिविधियों का केंद्र हैं, जो यात्रियों को अपने शांत और प्राचीन वातावरण में ले जाते हैं। इस गुफा के अंदर एक शिवलिंग स्थापित है, जिसका आकार दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है। यहां का माहौल आद्यात्मिकता और ध्यान में लिप्त है, जो यात्रियों को आत्मा के साथ संवाद करने का अवसर प्रदान करता है।

कोलाब बोटैनिकल गार्डन
कोरापुट में घूमने के लिए कई गार्डन हैं, लेकिन यहां के कोलाब बोटैनिकल गार्डन की बात ही कुछ अलग है। यह एक बहुत ही सुंदर बगीचा है, जो गुलाब बांध के किनारे स्थित है। यहां आपको खूबसूरत फूलों की 200 से ज्यादा प्रजातियां मिलेंगी।

डुडुमा वॉटरफॉल, 500 मीटर की ऊंचाई से गिरता है पानी
आपको बता दें कि डुडुमा वॉटरफॉल आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम जिले की सीमा पर स्थित है। अपनी ऊंचाई के कारण डुडुमा झरना ओडिशा का तीसरा झरना माना जाता है। डुडुमा झरना कोरापुट से एक घंटे 48 मिनट की दूरी पर स्थित है।यह एक झरना है जहां पानी 500 मीटर की ऊंचाई से गिरता है. इस झरने के पास काफी हरियाली है, जो यहां आने वाले पर्यटकों को आकर्षित करती है।

 

प्राकृतिक खिलाड़ी: ट्रैकिंग और एडवेंचर

ट्रैकिंग के शौकीनों के बीच कोरापुट बहुत लोकप्रिय है. अगर आप ट्रैकिंग के शौकीन हैं तो आप छुट्टियों में भी यहां जा सकते हैं। आपको बता दें कि इस जगह का इस्तेमाल लोगों को खेल के प्रति जागरूक करने के लिए भी किया जाता है। यहां घूमने के लिए सर्दी का मौसम सबसे अच्छा है। देवमाली कोरापुट का पर्वत है। इसकी ऊंचाई समुद्र तल से 1672 मीटर है. इसलिए यह कोरापुट की सबसे ऊंची चोटी भी है। यहां से आप कोरापुट का खूबसूरत नजारा बड़े आराम से देख सकते हैं।

Share This Article
Leave a comment