Hindi News: ओलंपियन नवजोत कौर कनाडा के गैरी के साथ शादी के बंधन में बंधी, कई हॉकी खिलाड़ी हुए शामिल

Sahab Ram
3 Min Read

अंतरराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी और ओलंपियन नवजोत कौर शुक्रवार को कनाडा के गैरी नागपाल के साथ शादी के बंधन में बंध गईं। यह शादी कुरूक्षेत्र के ऐतिहासिक गुरुद्वारा श्री मस्तगढ़ साहिब में हुई।

जहां हेड ग्रंथी अवतार सिंह ने नवजोत कौर और गैरी नागपाल के फेरे सिख रीति-रिवाज से कराए। इसके बाद यह जोड़ा उगाला के एक निजी रिसॉर्ट में पहुंचा, जहां शादी समारोह का आयोजन किया गया था। इस अवसर पर विभिन्न हॉकी खिलाड़ियों ने भाग लिया।

गैरी नागपाल अंतरराष्ट्रीय महिला हॉकी खिलाड़ी भूपिंदर कौर और रणबीर सिंह के बेटे हैं। भीम पुरस्कार प्राप्तकर्ता भूपिंदर कौर शाहाबाद की हॉकी खिलाड़ी हैं।

ओलंपियन की शादी में अंतरराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी और अर्जुन अवार्डी जसजीत कौर, लखविंदर कौर, रमणीक कौर, किरण बाला, ज्वयदीप कौर, सिमरजीत कौर, मनजीत कौर, रीत, प्रियंका, गुरलीन कौर, अमरिंदर कौर, जसप्रीत कौर, गगनदीप कौर, भारतीय टीम नवजोत. मिजोरम से विशेष रूप से आईं योगिता, मिजोरम की पूर्व गोलकीपर सुखजीत कौर, राल्टे सहित कई हॉकी हस्तियां पहुंचीं और ओलंपियन नवजोत कौर और गैरी नागपाल को बधाई दी।

विवाह समारोह में शाहाबाद विधायक रामकरण, पूर्व राज्य मंत्री कृष्ण बेदी, पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष हरीश कवात्रा, संतोख सिंह हांडा, बलराज सिंह ग्रेवाल, जिप सदस्य कंवरपाल सहित बड़ी संख्या में गणमान्य लोगों ने भी भाग लिया और नव जोड़े को आशीर्वाद दिया।

गौरतलब है कि नवजोत कौर ने भारतीय महिला हॉकी टीम के लिए खेलते हुए साल 2016 और 2021 के ओलंपिक में अच्छा प्रदर्शन किया था. 2021 के ओलंपिक में भारतीय टीम चौथे स्थान पर रही थी.

इसके अलावा नवजोत ने तीन सीनियर वर्ल्ड कप, एक जूनियर वर्ल्ड कप और दो बार एशियन गेम्स में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया। इसी तरह, देश ने 2018 एशियाई खेलों में रजत पदक और 2014 एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीता था।

नवजोत कौर टीम की मिडफील्डर खिलाड़ी रही हैं और अब तक 209 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुकी हैं. नवजोत कौर 2011 में भारतीय टीम में शामिल हुईं। भीम पुरस्कार प्राप्त नवजोत कौर ने अपने हॉकी करियर की शुरुआत कोच बलदेव सिंह के मार्गदर्शन में एसजीएनपी स्कूल, शाहाबाद से की। वर्तमान में नवजोत कौर आरसीएफ कपूरथला में ओएसडी ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी के पद पर तैनात हैं। आसपास के लोग भी देर शाम तक उन्हें बधाई देने आते रहे।

 

Share This Article
Leave a comment