चाणक्य नीति के अनुसार ,भूलकर भी किसी से न कहे अपनी ये बातें

Sahab Ram
3 Min Read

 

Yuva Haryana : आचार्य कौटिल्य के इस नीतिशास्त्र को चाणक्य नीति के नाम से जाना जाता है, जिसमें मनुष्य जीवन संबंधी महत्वपूर्ण बातें कही गई हैं। यदि जीवन में इन बातों का ध्यान रखा जाए तो कई परेशानियों से बचाव हो सकता है और जीवन सुखमय रूप में बीत सकता है। चाणक्य नीति ने हमें जीवन में बहुत सी महत्वपूर्ण बातें सिखाई हैं, जिनमें से एक मुख्य बात है गोपनीयता का महत्व। चाणक्य आचार्य के अनुसार, कुछ बातें हमें हमेशा गोपनीय रखनी चाहिए, जिन्हें किसी से भी कहने से बचना चाहिए। इन बातों को गोपनीय रखकर ही हम अपमान और नुकसान से बच सकते हैं।

पति-पत्नी के बीच की बातें

पति-पत्नी के बीच की बातों को सिर्फ और सिर्फ दोनों ही जानते होना चाहिए। खासकर अगर कोई विवाद हो तो उसे तीसरे को नहीं बताना चाहिए। इससे न केवल आपका संबंध मजबूत रहेगा, बल्कि समाज में भी आपका सम्मान बना रहेगा।

अपने कार्य से संबंधित योजना

कार्य से संबंधित योजना का जिक्र किसी और से करने से पहले उसे पूर्ण कर लेना चाहिए। यदि इसे अगर किसी और को बताया जाता है तो इससे आपका काम पूर्ण होने में अवरोध आ सकता है और आपको नुकसान हो सकता है।

परिवार से जुड़ी गोपनीय बातें

अपने परिवार से जुड़ी बातों को सिर्फ और सिर्फ अपने बीच में ही रखना चाहिए। किसी और को यह बातें बताने से आपका घर सुखी और समृद्ध नहीं रहेगा।

किसी जगह हुआ अपना अपमान

अगर कहीं पर आपका अपमान हुआ है तो उसे अपने बारे में किसी और से कहकर अधिक बड़ा न करें। यह आपके सम्मान को कम कर सकता है और आपको अपमानित महसूस करवा सकता है।

इसलिए, चाणक्य नीति के अनुसार हमें हमेशा गोपनीयता का महत्व समझना चाहिए। यह हमें न केवल सम्मान और आत्मसम्मान से भरपूर जीवन जीने में मदद करता है, बल्कि हमें नुकसान से भी बचाता है। इसलिए, हमें हमेशा ध्यान देना चाहिए कि किसी भी महत्वपूर्ण योजना या बात को सिर्फ और सिर्फ उसी के साथ ही साझा करना चाहिए, जिससे कोई भी नुकसान न हो।

Share This Article
Leave a comment