75 \u0938\u093E\u0932 \u0915\u0940 \u092E\u094D\u0939\u093E\u0930\u0940 \u0926\u093E\u0926\u0940 \u092E\u0932\u0947\u0936\u093F\u092F\u093E \u092E\u0947\u0902 \u0926\u094C\u095C\u0947\u0917\u0940

“The world’s most advanced Real Content in Hindi”

  1. Home
  2. खेल

75 साल की म्हारी दादी मलेशिया में दौड़ेगी

Yuva Haryana Panipat, 31 August, 2018 हरियाणा के जवान एशियन खेल में जबरदस्त प्रदर्शन कर रहे हैं, तो हरियणा के बुजुर्ग भी किसी से कम नहीं है। पानीपत की 75 वर्षीया दर्शना देवी ने एशिया पैसिफिक मास्टर्स गेम्स में जगह पक्की कर ली है। दर्शना वहां जेवलिन थ्रो, 5 किलोमीटर...


75 साल की म्हारी दादी मलेशिया में दौड़ेगी

Yuva Haryana

Panipat, 31 August, 2018

हरियाणा के जवान एशियन खेल में जबरदस्त प्रदर्शन कर रहे हैं, तो हरियणा के बुजुर्ग भी किसी से कम नहीं है। पानीपत की 75 वर्षीया दर्शना देवी ने एशिया पैसिफिक मास्टर्स गेम्स में जगह पक्की कर ली है। दर्शना वहां जेवलिन थ्रो, 5 किलोमीटर की पैदल चाल और 100- 200 मीटर की दौड़ में हिस्सा लेंगी। यह प्रतियोगिता मलेशिया की पिनांग सिटी में 7 से 15 सितंबर तक होगी।

पानीपत के गांव जाटल स्टेडियम से मलेशिया तक का सफर दर्शना के लिए चुनौतीपूर्ण और मजेदार है। 2017 में दर्शना के पति ने चंडीगढ़ की सबसे बड़ी उम्र की धावक जिसकी उम्र 101 वर्षीया की थी उसकी उपलब्धि के विषय में अखबार में पढ़ा।

जिससे प्रेरित होकर उन्होंने दर्शना को खेल प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए कहा। दर्शना के पति उसके लिए प्रेरणा बने और खेलो में हिस्सा लेकर कई पदक जीते। अब मलेशिया की पिनांग सिटी में खेलने की तैयारी कर रही हैं ।

75 साल की म्हारी दादी मलेशिया में दौड़ेगी

दर्शना ने बताया की अक्टूबर 2017 में जाटल स्टेडियम में खेल महाकुंभ हुआ। उन्होंने 70 प्लस आयु वर्ग में 5 किलोमीटर पैदल चाल प्रतियोगिता में हिस्सा लिया। वह प्रथम स्थान पर रहीं। इसके बाद उन्होंने पंचकूला में आयोजित स्टेट लेवल, दिल्ली में हुई इंडो- बंगलादेश मास्टर्स एथलीट मीट 2016, चंडीगढ़ में हुई प्रथम नेशनल मास्टर्स गेम्स 2018 और युवरानी एथलेटिक्स समिति चैंपियपशिप में हिस्सा लिया और पदक बटोरती रहीं।

बता दें कि प्रतियोगिता का आयोजन इंटरनेशनल मास्टर गेम्स एसोसिएशन करा रही है। दर्शना हर रोज पार्क में जाकर अभ्यास करती हैं और परिवार वाले भी अपनी दादी की इस सफलता के लिए उन्हें हौंसला देते रहते हैं।

 

 

75 साल की म्हारी दादी मलेशिया में दौड़ेगी