\u092C\u093F\u091C\u0932\u0940 \u0928\u093F\u0917\u092E \u092E\u0947\u0902 \u0915\u093E\u0930\u094D\u092F\u0930\u0924 \u091C\u0947\u0908 \u0914\u0930 \u0932\u093E\u0907\u0928\u092E\u0948\u0928 \u0915\u094B \u0915\u093F\u092F\u093E \u0938\u0938\u094D\u092A\u0947\u0902\u0921, \u091C\u093E\u0928\u093F\u090F \u0935\u091C\u0939

“The world’s most advanced Real Content in Hindi”

  1. Home
  2. सोशल-वायरल

बिजली निगम में कार्यरत जेई और लाइनमैन को किया सस्पेंड, जानिए वजह

Yuva Haryana News, Narnaul, 25 July 2020 नारनौल में दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के ग्रामीण कार्यालय में कार्यरत एक जेई और लाइनमैन को बिजली की लाइन गलत तरीके से शिफ्ट करने के मामले में सस्पेंड किया गया है। वहीं इस मामले में निगम में डीसी रेट पर लगे एक...


बिजली निगम में कार्यरत जेई और लाइनमैन को किया सस्पेंड, जानिए वजह

Yuva Haryana News, Narnaul, 25 July 2020

नारनौल में दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के ग्रामीण कार्यालय में कार्यरत एक जेई और लाइनमैन को बिजली की लाइन गलत तरीके से शिफ्ट करने के मामले में सस्पेंड किया गया है। वहीं इस मामले में निगम में डीसी रेट पर लगे एक कर्मी का नाम भी आने पर उसे हटा दिया गया है। हालांकि निगम के नियमों के अनुसार काम गलत था लेकिन इस मामले में गांव बापडोली की एक महिला ने नारनौल के विधायक एवं राज्य मंत्री ओमप्रकाश यादव को 20 जुलाई को एक शिकायत करके निगम के इन अधिकारियों पर पैसे लेने के बावजूद काम नहीं करने का आरोप लगाया था। जिस पर एक्शन लेते हुए निगम के एसई डीके बंसल ने यह कार्रवाई की है।

गांव बापडोली की सुमित्रा पत्नी लेखराम ने राज्य मंत्री ओमप्रकाश यादव को एक शिकायत की थी कि उसने पहले अपने जिस ट्यूबवेल पर कनेक्शन लिया हुआ था उसका पानी सूख गया था। अब उसने पुराना ट्यूबवेल से दो किल्ले दूर खेत में दूसरा ट्यूबवेल खुदवाया था। पुराने कनेक्शन को बदलवाने के लिए वे निगम के चक्कर लगा रहे थी लेकिन उनका काम नहीं हो रहा था।

[highlight bgcolor=”#dd3333″]More Stories>>>[/highlight]

सुमित्रा देवी ने अपनी शिकायत में कहा है कि बिजली निगम में चक्कर लगाने के दौरान उनकी मुलाकात उन्हीं के गांव के एक लड़के सतीश कुमार से हुई जो बिजली निगम में डीसी रेट पर लगा हुआ है, ने कहा कि वह उनका काम करवा देगा इसके लिए बीस हजार रुपए लगेंगे और खंभे भी दिलवा देने की बात कही। शिकायत के अनुसार सतीश ने छह हजार रुपये लेकर लहरोदा से खंभे भी दिलवा दिए।

सुमित्रा के अनुसार इसके बाद उसने सतीश को 20 हजार रुपये दे दिए तो कम बताकर 50 हजार की मांग की गई। इस पर उसने 50 हजार रुपये दे दिए। इसके बाद सतीश कुमार के साथ एक रात उसके घर जेई पालाराम व लाइनमैन अमरसिंह आए और कहा कि उनका काम एक लाख रुपये में होगा। यदि काम करवाना है तो एक लाख रुपये दो वरना नहीं होगा। पीड़िता सुमित्रा ने मंत्री को दी अपनी इस शिकायत में पैसे वापस दिलाने और कनेक्शन करवाने की मांग की है।

बिजली निगम के ग्रामीण एसडीओ पवन ग्रोवर का कहना है कि उन्हें गांव बापडोली के एक खेत पर अवैध रूप से खंभे खड़े करने की सूचना मिली थी। जिसे चेक करवाया तो शिकायत सही मिली। जिस पर उन्होंने पुलिस में खंभे खड़े करने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया है। सस्पेंड जेई व लाइनमैन मामले की दो अधिकारी करेंगे जांच: एसई इस मामले में बिजली निगम के एसई डीके बंसल ने बताया कि उन्होंने गत दिवस ही जेई का कार्यभार देख रहे पालाराम व लाइनमैन अमरसिंह को सस्पेंड कर दिया था, जबकि डीसी रेट पर लगे कर्मी सतीश कुमार का हटा दिया गया है। एसई ने बताया कि इस मामले की जांच नारनौल एक्सईएन व नांगल चौधरी के एसडीओ को सौंपी गई है।