\u0939\u0930\u093F\u092F\u093E\u0923\u093E \u092E\u0947\u0902 \u0938\u094B\u0932\u0930 \u0938\u092C\u094D\u0938\u093F\u0921\u0940 \u092F\u094B\u091C\u0928\u093E \u092E\u0947\u0902 \u092B\u0930\u094D\u091C\u0940 \u0935\u0947\u092C\u0938\u093E\u0907\u091F \u0939\u094B\u0928\u0947 \u0915\u0940 \u0906\u0936\u0902\u0915\u093E, \u090A\u0930\u094D\u091C\u093E \u0935\u093F\u092D\u093E\u0917 \u0928\u0947 \u0926\u0940 \u092F\u0947 \u091C\u093E\u0928\u0915\u093E\u0930\u0940

“The world’s most advanced Real Content in Hindi”

  1. Home
  2. सोशल-वायरल

हरियाणा में सोलर सब्सिडी योजना में फर्जी वेबसाइट होने की आशंका, ऊर्जा विभाग ने दी ये जानकारी

Sahab Ram, Yuva Haryana, Chandigarh हरियाणा के नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग ने स्पष्ट किया है कि केन्द्रीय नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय द्वारा प्रदेश में ‘प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाअभियान(पीएम-कुसुम)’ योजना के तहत स्थापित किए जाने वाले सोलर वाटर पंपिंग सिस्टम के लिए आवेदन केवल राज्य सरकार के सरल...


हरियाणा में सोलर सब्सिडी योजना में फर्जी वेबसाइट होने की आशंका, ऊर्जा विभाग ने दी ये जानकारी

Sahab Ram, Yuva Haryana, Chandigarh

हरियाणा के नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग ने स्पष्ट किया है कि केन्द्रीय नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय द्वारा प्रदेश में ‘प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाअभियान(पीएम-कुसुम)’ योजना के तहत स्थापित किए जाने वाले सोलर वाटर पंपिंग सिस्टम के लिए आवेदन केवल राज्य सरकार के सरल पोर्टल अर्थात  saralharyana.gov.in  के माध्यम से ही प्राप्त किए जा रहे हैं और इस उद्देश्य के लिए अन्य कोई पोर्टल नहीं है।

विभाग के एक प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि देखने में आया है कि इस योजना के लिए पंजीकरण पोर्टल के रूप में कुछ नई वेबसाइट्स क्रॉप की गई हैं। ऐसी वेबसाइट्स जनसाधारण के साथ धोखाधड़ी कर सकती हैं और झूठे पंजीकरण पोर्टल के माध्यम से उनका डाटा चुराकर उसका दुरुपयोग कर सकती हैं। इसलिए लोगों को किसी भी हानि से बचाने के लिए, उन्हें सलाह दी जाती है कि इस उद्देश्य के लिए वे केवल राज्य सरकार के सरल पोर्टल के माध्यम से ही आवेदन करें।

उन्होंने बताया कि लोगों को यह भी सलाह दी जाती है कि वे ऐसी धोखाधड़ीपूर्ण  वेबसाइटों पर कोई भी पंजीकरण शुल्क,  उपयोगकर्ता हिस्सा आदि जमा करवाने और अपना डाटा शेयर करने से बचें। इसके अलावा, किसी भी तरह की जानकारी के लिए वे विभाग की वेबसाइट अर्थात haredagov.in पर या अपने जिले के अतिरिक्त उपायुक्त-सह-मुख्य परियोजना अधिकारी से संपर्क कर सकते हैं।

प्रवक्ता ने बताया कि विभाग द्वारा केन्द्रीय नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय की ‘प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाअभियान (पीएम-कुसुम)’ योजना के तहत कृषि उद्देश्य के लिए सोलर पंप की स्थापना का कार्यक्रम क्रियान्वित किया जा रहा है। इसके तहत, प्रदेश में 75 प्रतिशत सब्सिडी के साथ 15000 ऑफ-ग्रिड सोलर पंप स्थापित किए जा रहे हैं।  इस कार्यक्रम के लिए सरल पोर्टल के माध्यम से आवेदन आमंत्रित किए गए हैं और आवेदन जमा करवाने के समय कोई भी पैसा जमा करवाने की आवश्यकता नहीं है।

उन्होंने बताया कि इस योजना के बारे में अन्य विवरण तथा क्रियान्वयन संबंधी दिशा-निर्देश मंत्रालय की वेबसाइट www.mnre.gov.in के साथ-साथ haredagov.in पर भी उपलब्ध हैं।