\u092C\u0940\u091C\u0947\u092A\u0940 \u0915\u0947 \u092A\u0930\u093F\u0936\u094D\u0930\u092E\u0940 \u0915\u093E\u0930\u094D\u092F\u0915\u0930\u094D\u0924\u093E \u0915\u094B \u0939\u0940 \u092E\u093F\u0932\u0947\u0917\u0940 \u0935\u093F\u0927\u093E\u0928\u0938\u092D\u093E \u091A\u0941\u0928\u093E\u0935 \u0915\u0940 \u091F\u093F\u0915\u091F, \u092E\u0948\u0930\u093F\u091F \u0915\u0947 \u0906\u0927\u093E\u0930 \u092A\u0930 \u0926\u0947\u0902\u0917\u0947 \u091F\u093F\u0915\u091F- \u0927\u0928\u0916\u0921\u093C

“The world’s most advanced Real Content in Hindi”

  1. Home
  2. राजनीति

बीजेपी के परिश्रमी कार्यकर्ता को ही मिलेगी विधानसभा चुनाव की टिकट, मैरिट के आधार पर देंगे टिकट- धनखड़

Deepak Khokhar, Yuva Haryana Rohtak, 4 July, 2019 रोहतक में परिवेदना समिति की बैठक में ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा है कि बीजेपी के परिश्रमी कार्यकर्ता को ही विधानसभा चुनाव की टिकट मिलेगी। टिकट वितरण के समय जहां बीजेपी कार्यकर्ता का परिश्रम है, उसे प्राथमिकता मिलेगी। मैरिट के आधार पर टिकट दी...


बीजेपी के परिश्रमी कार्यकर्ता को ही मिलेगी विधानसभा चुनाव की टिकट, मैरिट के आधार पर देंगे टिकट- धनखड़

Deepak Khokhar, Yuva Haryana

Rohtak, 4 July, 2019

रोहतक में परिवेदना समिति की बैठक में ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा है कि बीजेपी के परिश्रमी कार्यकर्ता को ही विधानसभा चुनाव की टिकट मिलेगी। टिकट वितरण के समय जहां बीजेपी कार्यकर्ता का परिश्रम है, उसे प्राथमिकता मिलेगी। मैरिट के आधार पर टिकट दी जाएगी।

धनखड़ ने कहा कि बीजेपी में सिर्फ अच्छी छवि और पार्टी की नीतियों को मानने वाले लोग ही शामिल हो रहे हैं।

क्या पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा के लिए बीजेपी के दरवाजे खुले हैं, इस सवाल पर धनखड़ ने कहा कि 5 रूपए की मेंबरशिप 6 जुलाई से शुरू हो रही है, नंबर भी खुल गया है, देखते हैं कौन-कौन डायल करता है। पहले मिस कॉल तो करें, अगली बात फिर करेंगे ।

कृषि मंत्री ने कांग्रेस पार्टी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि एक टीम मैदान में मजबूती से खड़ी है और दूसरी टीम का झगड़ा ही खत्म नहीं हो रहा। कांग्रेस में एक ही परिवार चला रहा था पार्टी, अब लड़कर बैठ गए, इसमें बीजेपी का क्या कसूर।

कृषि मंत्री ने हरियाणा में बिजली की समस्या पर कहा कि  भारत में बिजली की कमी नहीं, लेकिन ढांचा पुराना है, पैसे की भी कमी है। हरियाणा में 7 हजार करोड़ रूपए सस्ती बिजली के लिए किसानों को सबसिडी देनी पड़ती है, साढ़े 6 हजार करोड़ रूपए का नुकसान होता है। बिजली समस्या चुनौती है, अगले 5 साल में निपटने का लक्ष्य है।

बीजेपी के परिश्रमी कार्यकर्ता को ही मिलेगी विधानसभा चुनाव की टिकट, मैरिट के आधार पर देंगे टिकट- धनखड़