Yuva Haryana
नए कृषि बिलों के बाद मंडी व्यवस्था को लेकर तमाम विषयों पर हुई विस्तारपूर्वक चर्चा- Deputy CM
Yuva Haryana News Chandigarh, 22 September, 2020 चंडीगढ़ स्थित मुख्यमंत्री आवास पर हरियाणा की आढ़ती एसोसिएशन और राइस मिलर्स की प्रदेश सरकार के साथ अलग-अलग बैठकें हुई। मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में हुई इस बैठक के बाद प्रदेश के Deputy CM Dushyant Chautala पत्रकारों से रूबरू हुए और बैठक...
 
नए कृषि बिलों के बाद मंडी व्यवस्था को लेकर तमाम विषयों पर हुई विस्तारपूर्वक चर्चा- Deputy CM

Yuva Haryana News

Chandigarh, 22 September, 2020

चंडीगढ़ स्थित मुख्यमंत्री आवास पर हरियाणा की आढ़ती एसोसिएशन और राइस मिलर्स की प्रदेश सरकार के साथ अलग-अलग बैठकें हुई। मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में हुई इस बैठक के बाद प्रदेश के Deputy CM Dushyant Chautala पत्रकारों से रूबरू हुए और बैठक के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि संसद में कृषि संबंधित पास किए गए बिलों के बाद राज्य में मंडी व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने के लिए सभी विषयों पर विस्तार पूर्वक चर्चा की गई है।

नए कृषि बिलों के बाद मंडी व्यवस्था को लेकर तमाम विषयों पर हुई विस्तारपूर्वक चर्चा- Deputy CM

दुष्यंत चौटाला ने बताया कि बैठक में हरियाणा सरकार ने मार्केट फीस और रूरल डेवलपमेंट फीस में 2-2% की कमी करने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि आढ़ती एसोसिएशन ने प्रदेश की मंडियों में सरकारी खरीद के अलावा वैकल्पिक बाजार शुरू करने मांग की है, जिसपर सरकार ने एक कमेटी गठित कर दी गई है, जो कि आढ़तियों के साथ बातचीत कर अगले 15 दिन में अपनी रिपोर्ट सरकार को पेश करेगी।

उन्होंने कहा कि कमेटी में वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव, अतिरिक्त मुख्य सचिव खाद्य आपूर्ति विभाग और अतिरिक्त मुख्य सचिव कृषि शामिल होंगे।

डिप्टी सीएम ने कहा कि किसानों की फसल के भुगतान करने बारे भी चर्चा हुई है। उन्होंने कहा कि यदि कोई किसान “मेरी फसल मेरा ब्योरा” पोर्टल पर अपने भुगतान के बारे में सहमति देता है तो उसी के अनुसार भुगतान किया जाएगा। वहीं किसान आढ़ती के जरिये भुगतान चाहता है तो वह भी विकल्प भी उनके पास मौजूद होगा। इसके अलावा यदि किसान सीधे ही अपनी उपज का भाव खाते में चाहता है तो सरकार सीधा भुगातान किसानों के खाते में कर देगी।

नए कृषि बिलों के बाद मंडी व्यवस्था को लेकर तमाम विषयों पर हुई विस्तारपूर्वक चर्चा- Deputy CM

खरीफ सीजन की खरीद के बारे में उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बताया कि हरियाणा सरकार एक तारीख से खरीद को लेकर पूरी तरह से तैयार है और धान, बाजरा, मक्का और कपास की खरीद होगी। उन्होंने ये भी बताया कि हरियाणा ने केंद्र से 25 सितम्बर से खरीद की अनुमति मांगी थी जो अभी तक नहीं मिली हम एक अक्टूबर से खरीद के लिए तैयार है।

राइस मील में खरीद केंद्र बनाने के संबंध में उन्होंने कहा कि जहां क्षमता होगी और सेलर चाहेगा तो सरकार खरीद केंद्र बनाने को तैयार है। उन्होंने केंद्र सरकार की तरफ से आगामी रबी फसल सीजन की फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में की गई बढ़त को भी सराहनीय बताया।

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जब फसल खरीद शुरू होगी तो विपक्ष और जनता के सारे भ्रम खत्म हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि साथ ही उन लोगों की भी पोल पट्टी खुल जाएगी जिन्होंने अपनी सरकार में इसकी सिफारिश की थी लेकिन आज सरकार के प्रयासों का विरोध कर रही है।

नए कृषि बिलों के बाद मंडी व्यवस्था को लेकर तमाम विषयों पर हुई विस्तारपूर्वक चर्चा- Deputy CM

चंडीगढ़ स्थित मुख्यमंत्री आवास पर प्रदेश सरकार की आढ़ती एसोसिएशन और राइस मिलर्स प्रतिनिधण्डल के साथ हुई बैठक के बाद उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला द्वारा पत्रकारों को दी गई जानकारी के प्रमुख बिंदु:-

– आढ़ती एसोसिएशन और राइस मिलर्स के प्रतिनिधण्डल के साथ अलग-अलग बैठक हुई

– तीनों कृषि बिलों के लागू होने के बाद मंडी व्यवस्था पर हुई चर्चा

– आढ़ती एसोसिएशन ने मांग रखी कि ओपन मार्किट के बराबर लोकल मार्केट का रेट रहें

– इसी के चलते मार्किट फीस जो पहले चार फीसदी थी उसे घटाकर एक फ़ीसदी किया गया है

– आढ़तियों का सुझाव था मार्किट में अन्य ट्रेड को खरीद के लिए परमिशन देने के लिए एक कमेटी गठित की गई है

– कमेटी में एसीएस कृषि विभाग, एसीएस खाद्य आपूर्ति विभाग और वित्त सचिव की बनाई है जो 15 दिन में अपनी रिपोर्ट देगी

– यह कमेटी मंडी में अन्य वैकल्पिक व्यापार को मंजूरी दी जाए इसपर अपनी रिपोर्ट देगी

– कमेटी आढ़तियों से कल चर्चा भी करेगी

– जो फीस पहले चार फीसदी थी अब वो नए एक्ट के तहत एक फीसदी कर दी गई है

– किसानों और आढ़तियों की सहमति के आधार पर भुगतान किया जाएगा

– किसान “मेरी फसल मेरा ब्यौरा” पर अगर कहेगा कि उसका भुगतान सीधा होना चाहिए तो पेमेंट किसान को सीधी होगी, इस पर बैठक में सहमति बनी है

– हरियाणा ने केंद्र से 25 सितम्बर से खरीद की अनुमति मांगी थी जो अभी नहीं मिली हम एक अक्टूबर से खरीद के लिए तैयार है

– राइस मिलर्स से बात हुई है उनके सहमति से मील में भी खरीद केन्द्र बनाएगें

– क्रांग्रेस पर बोले डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला

– भ्रम उन लोगों ने फैलाया जिनके खुद हस्ताक्षर करें हुए प्रपोजल सामने आए हैं

– एक अक्टूबर से जब एमएसपी पर खरीद होगी कांग्रेस के फैलाए भ्रम दूर हो जाएंगे