\u092D\u093E\u091C\u092A\u093E \u0928\u0947\u0924\u093E \u0938\u0947 \u092E\u093E\u0902\u0917\u0940 \u0925\u0940 12 \u0932\u093E\u0916 \u0915\u0940 \u092B\u093F\u0930\u094C\u0924\u0940, \u092A\u0941\u0932\u093F\u0938 \u0928\u0947 \u090F\u0915 \u0932\u0948\u092C \u0905\u0938\u093F\u0938\u094D\u091F\u0947\u0902\u091F \u0915\u094B \u0915\u093F\u092F\u093E \u0917\u093F\u0930\u092B\u094D\u0924\u093E\u0930

“The world’s most advanced Real Content in Hindi”

  1. Home
  2. राजनीति

भाजपा नेता से मांगी थी 12 लाख की फिरौती, पुलिस ने एक लैब असिस्टेंट को किया गिरफ्तार

Ajay Atri, Yuva Haryana Rewari, 03 Nov, 2018 भाजपा जिला उपाध्यक्ष रामदत्त भारद्वाज के घर चिट्ठी भेजकर 12 लाख रुपए की रंगदारी मांगने वाले आरोपी मास्टर माइंड सीताराम को पुलिस ने काबू कर लिया है। सीताराम रामदत्त भारद्वाज के गांव का ही रहने वाला है। भाजपा जिला उपाध्यक्ष रामदत्त भारद्वाज...


भाजपा नेता से मांगी थी 12 लाख की फिरौती, पुलिस ने एक लैब असिस्टेंट को किया गिरफ्तार
Ajay Atri, Yuva Haryana
Rewari, 03 Nov, 2018
भाजपा जिला उपाध्यक्ष रामदत्त भारद्वाज के घर चिट्ठी भेजकर 12 लाख रुपए की रंगदारी मांगने वाले आरोपी मास्टर माइंड सीताराम को पुलिस ने काबू कर लिया है। सीताराम रामदत्त भारद्वाज के गांव का ही रहने वाला है। भाजपा जिला उपाध्यक्ष रामदत्त भारद्वाज को 31 अक्तूबर की रात घर में ही एक चिट्ठी मिली थी। चिट्ठी लिखने वाले व्यक्ति ने 12 लाख रुपए की रंगदारी मांगी थी और रंगदारी नहीं देने पर उसे व उसके बेटे को जान से मारने की धमकी दी थी। उसी रात रोहड़ाई थाना पुलिस ने इस पर केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी थी।
आरोपी को पकडऩे के लिए पुलिस पूरी तरह एक्टिव हो गई। अलग-अलग टीमें बनाकर जाल बिछाया गया। चिट्ठी में गांव टहना दीपालपुर के रहने वाले सीताराम ने लिखा था कि गांव का ही रहने वाला सीताराम तेरा पालतू कुत्ता है। उसके बैग में 12 लाख रुपए रख देना। उसने चिट्ठी में यह भी लिखा कि इससे पहले भी 20 अक्तूबर को पैसों की डिमांड के लिए उसने चिट्ठी लिखी थी। लेकिन शायद वह तेरे हाथ नहीं लगी। जिसके कारण दूसरी चिट्ठी लिख रहा हूं। अगर अब भी 1 नवंबर तक 12 लाख रुपए नहीं दिए तो तुझे और तेरे बेटे को जान से मार दूंगा।
चिट्ठी में सीताराम का जिक्र आते ही पुलिस को उस पर शक हो गया था। सीताराम गुरुग्राम सेक्टर-14 में लाल पैथ लैब में असिस्टेंट के पद पर कार्यरत था। पुलिस की टीमें उस पर दिनभर नजर रख रही थी। उसके बाद भी जब एक नवंबर की शाम तक रामदत्त से कोई पैसे नहीं लेने आया तो पुलिस ने आखिर में सीताराम को धर दबोचा। सख्ताई से पूछताछ की तो उसने वारदात से पर्दा उठा दिया। सीताराम ने पुलिस को बताया कि रंगदारी उसने कर्ज के नीचे दबे होने के कारण मांगी थी। उसके सिर पर काफी कर्जा है। कर्जा उतर नहीं पा रहा था। आरोपी को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया गया है।
भाजपा नेता से मांगी थी 12 लाख की फिरौती, पुलिस ने एक लैब असिस्टेंट को किया गिरफ्तार