Yuva Haryana
इन राज्यों के कोविड वैक्सीन प्रमाण पत्रों से हटेगी पीएम नरेंद्र मोदी की फोटो, इस कारण स्वास्थ्य मंत्रालय ने लिया बड़ा फैसला
 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बड़ा फैसला लिया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर को टीके के प्रमाणपत्र से हटाने के लिए कोविन प्लेटफॉर्म पर जरूरी फिल्टर लगाया जाएगा। चुनाव आयोग ने शनिवार को घोषणा की थी कि उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, मणिपुर और गोवा में विधानसभा चुनाव 10 फरवरी से 7 मार्च के बीच सात चरणों में होंगे और मतगणना 10 मार्च को होगी।

जिन पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं, वहां जारी किए जाने वाले कोविड टीकाकरण प्रमाणपत्र पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर नहीं होगी। इसका कारण यह है कि वहां आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। एक आधिकारिक सूत्र ने यह जानकारी दी।

सूत्र ने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय मोदी की तस्वीर को टीके के प्रमाणपत्र से हटाने के लिए कोविन प्लेटफॉर्म पर जरूरी फिल्टर लगाएगा। चुनाव आयोग ने शनिवार को घोषणा की थी कि उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, मणिपुर और गोवा में विधानसभा चुनाव 10 फरवरी से 7 मार्च के बीच सात चरणों में होंगे और मतगणना 10 मार्च को होगी।

चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही सरकारों, उम्मीदवारों और राजनीतिक दलों के लिए आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने शनिवार को चुनावों की तारीखों का ऐलान करते हुए कहा था कि विधानसभा चुनाव पूरी तरह से कोरोना नियमों के साथ होंगे।

आदर्श आचार संहिता लागू होने के कारण इन पांच चुनावी राज्यों में लोगों को जारी किए जाने वाले कोविड-19 टीकाकरण प्रमाणपत्रों से प्रधानमंत्री की तस्वीर हटाने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय कोविन प्लेटफॉर्म पर आवश्यक फिल्टर लगाएगा।

मार्च 2021 में स्वास्थ्य मंत्रालय ने कुछ राजनीतिक दलों की शिकायतों के बाद चुनाव आयोग के सुझाव पर असम, केरल, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और पुडुचेरी में चुनावों के दौरान भी इसी तरह के कदम उठाए गए थे।