Yuva Haryana
How to Port The Policy : क्या आप अपने मौजूदा हेल्थ इंश्योरेंस से नहीं है खुश, तो इस तरह दूसरी कंपनी में पोर्ट करा सकते पॉलिसी
 

How to Port The Policy : कोरोना माहामारी के बाद लोग अब ज्यादा से ज्यादा हेल्थ इंश्योरेंस (Health Insurance) करा रहे हैं। ताकि स्वास्थ्य संबंधी किसी भी मुसीबत के वक्त आसानी से इलाज हो सके। अगर आपने पहले से कोई हेल्थ पॉलिसी (Health Policy) ले रखी है और आप उससे खुश नहीं है तो इसे आसानी से दूसरी कंपनी में पोर्ट करा सकते हैं। ऐसा करने से आपको पुरानी पॉलिसी (Policy) में मिलने वाले लाभ नई पॉलिसी (New Policy)में भी जारी रहेंगे। ऐसा भी हो सकता है कि नई पॉलिसी (New Policy)में आपको कुछ अतिरिक्त लाभ मिल जाएं।

सबसे पहले यह जान लें कि सिर्फ रेगुलर पॉलिसी (Policy) ही पोर्ट की जा सकती है। अगर हेल्थ पॉलिसी (Health Policy) किसी कारणवश बीच में ही रोक दी गई है तो इसे दूसरी कंपनी में पोर्ट नहीं कराया जा सकता है। अब जानते हैं इस पूरी प्रक्रिया के बारे में....

First of all, know that only a regular policy can be ported. If the health policy has been stopped midway due to any reason, then it cannot be ported to another company.

Choose New Company

  • पुरानी पॉलिसी (Policy) एक्सपायर होने के 45-60 दिन पहले आपको पोर्ट के लिए अप्लाई करना होगा।
  • सबसे पहले आप वह बीमा कंपनी चुनें जिसमें आपको हेल्थ इंश्योरेंस (Health Insurance) करवाना है। इसके बाद एप्लीकेशन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद नई कंपनी आपको पोर्टिबिलिटी और प्रपोजल फॉर्म भेजेगी। इन दोनों फॉर्म को आपको भरना है।
  • इनमें अपनी निजी जानकारी और पिछली इंश्योरेंस कंपनी की जानकारी देनी होगी।

All These Can be Transferred

  • पॉलिसी खरीदने के बाद 30 दिन का वेटिंग पीरियड
  • पुरानी बीमारियों के लिए वेटिंग पीरियड
  • किसी खास बीमारी के लिए वेटिंग पीरियड
  • पुरानी पॉलिसी का नो क्लेम बोनस

You Must Have These Documents

  • हेल्श इंश्योरेंस (Health Insurance)  रिन्यू करने से संबंधित नोटिस या पिछले साल का पॉलिसी (Health Policy) शेड्यूल
  • नो क्लेम बोनस क्लेम करना है तो एक घोषणापत्र
  • कोई क्लेम किया है तो डिस्चार्ज समरी
  • जांच और फॉलो-अप रिपोर्ट
  • पिछली मेडिकल हिस्ट्री, रिपोर्ट और कॉपी