\u0939\u0930\u093F\u092F\u093E\u0923\u093E \u0915\u0940 \u092C\u0947\u091F\u0940 \u0928\u0947 UN \u092E\u0947\u0902 \u0926\u093F\u092F\u093E \u092D\u093E\u0937\u0923, \u092C\u0947\u091F\u093F\u092F\u094B\u0902 \u0915\u0940 \u0938\u0941\u0930\u0915\u094D\u0937\u093E \u0915\u0940 \u0926\u0947\u0924\u0940 \u0939\u0948 \u091F\u094D\u0930\u0948\u0928\u093F\u0902\u0917

“The world’s most advanced Real Content in Hindi”

  1. Home
  2. देश

हरियाणा की बेटी ने UN में दिया भाषण, बेटियों की सुरक्षा की देती है ट्रैनिंग

Sahab Ram, Yuva Haryana Chandigarh, 14 July, 2018 हरियाणा की बेटी दीपिका देसवाल ने प्रदेश, देश ही नहीं विदेशों में जाकर एक अलग पहचान बनाई है। हरियाणा की इस बेटी को यूएन ने Youth For Human Rights के लिए 5 जुलाई को भाषण देने के बुलाया था। इस बेटी के...


हरियाणा की बेटी ने UN में दिया भाषण, बेटियों की सुरक्षा की देती है ट्रैनिंग

Sahab Ram, Yuva Haryana

Chandigarh, 14 July, 2018

हरियाणा की बेटी दीपिका देसवाल ने प्रदेश, देश ही नहीं विदेशों में जाकर एक अलग पहचान बनाई है। हरियाणा की इस बेटी को यूएन ने Youth For Human Rights के लिए 5 जुलाई को भाषण देने के बुलाया था। इस बेटी के हौंसले से देश का डंका यूएन में बजा।

फिलहाल दीपिका देसवाल दिल्ली में एडवोकेट जनरल ऑफ पंजाब के पद पर तैनात हैं। यह वही बेटी है जिसने पाकिस्तानी मनचले को सोशल मीडिया के जरिये ही सबक सिखा दिया था। यह बेटी भारत में भी महिलाओं और बच्चियों की सुरक्षा के लिए हर वक्त तैयार रहती है। लड़कियों को सेल्फ डिफेंस की ट्रैनिंग भी देती हैं।

दीपिका देसवाल ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से लॉ की डिग्री की हुई है। इसी दौरान एक पाकिस्तानी सिरफिरे ने दीपिका के पास अश्लील मैसेज फेसबुक के जरिये भेजने शुरु किये । एक दो बार तो दीपिका ने उसको नजरअंदाज किया लेकिन नहीं माना तो उसको सबक सिखाकर ही दम लिया।

यूएन में आयोजित इंटरनेशनल हयूमन राइट्स समिट में दीपिका देसवाल ने महिलाओं की सुरक्षा को लेकर अपना भाषण दिया।

दीपिका देसवाल ने यहां पर बताया कि वो महिलाओं और लड़कियों को ट्रैनिंग देती है। यहां पर वो लड़कियों को यही सिखाती है कि लड़का और लड़की में भेदभाव ना करें, बिना भेदभाव के लड़का और लड़की को रखना चाहिए।

इसके अलावा दीपिका देसवाल उन लड़कियों की मदद के लिए हमेशा तैयार रहती है, जो किसी प्रकार से भयभीत है। उनको ट्रैनिंग भी देती है जो लड़कियों के साथ अक्सर होने वाली छेड़छाड़ की घटनाओं से बचाती है उन बेटियों को हौंसला देती है।