Yuva Haryana
आरटीए सिपाही के साथ बदतमीजी: वर्दी फाड़ी व मारपीट की, ओवरलोड डंपर का वजन कराने के लिए रोका था
 


हरियाणा के पानीपत जिले में आरटीए विभाग के सिपाही के साथ मारपीट, जान से मारने की धमकी और वर्दी फाड़ने का मामला सामने आया है. रास्ते में ओवरलोड डंपर का वजन लेने जा रहे सिपाही को कार में सवार तीन बदमाशों ने रोक कर घटना को अंजाम दिया। सिपाही से मारपीट करते हुए उसने वर्दी फाड़ दी.

 

इतना ही नहीं आरोपितों ने डंपर भी छुड़ाया. वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी जान से मारने की धमकी देकर मौके से फरार हो गया. आरक्षक ने मामले की सूचना पुलिस को दी. शिकायत के आधार पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 186, 353, 341, 506, 34 के तहत मामला दर्ज कर मामले में आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है. सेक्टर 29 थाने में दी गई शिकायत में कांस्टेबल अमिताभ सिंह ने बताया कि वह आरटीए विभाग में तैनात है. 23 जून की रात वह एमवीओ राजेश मलिक, एसआई सुरेश कुमार, एएसआई राजकुमार, कांस्टेबल विनय और चालक देवेंद्र सिंह सहित प्रवर्तन दल के सदस्यों के साथ सनौली रोड पर ओवरलोड वाहनों की जांच कर रहे थे.

 

चैकिंग के दौरान सनौली से पानीपत जा रहे एक डंपर एचआर846469 को रात करीब साढ़े 11 बजे चौटाला रोड पर रोका गया. ऊपर तक ओवरलोड बालू से भरा हुआ था, कांटा करवाने के लिए एमवीओ ने गाड़ी में बैठ कर भेजा था. जब वह डंपर में गोहाना रोड बाइपास पर नहर के पास पहुंचे तो अचानक उस डंपर के सामने सफेद रंग की एक कार आकर रुकी. तीन युवक कार से उतरे और सिपाही से कहने लगे कि यह कार हमारी है, इसमें से उतर जाओ. नहीं तो मैं तुम्हें मार डालूंगा. डम्पर चालक भी उसके साथ हो गया और उससे कहने लगा कि अगर तुम्हें अपनी जान की सुरक्षा चाहिए तो गाड़ी से उतर जाओ, तुम हमें नहीं जानते. आप जैसे कई पुलिसवालों को हमने देखा है. अधिकारी को सूचित करने के लिए कांस्टेबल ने फोन निकाला.


जैसे ही उसने फोन करना शुरू किया, तीन लोगों और डंपर चालक ने उसके साथ मारपीट शुरू कर दी. उन्होंने उसका फोन छीन लिया और उसे जबरन डंपर से नीचे उतार दिया. मारपीट के दौरान उनकी वर्दी भी फाड़ दी गई। इसी दौरान डम्पर चालक ने डम्पर को हाइड्रोलिक प्रेशर से ऊपर उठाकर सड़क पर कुछ रेत उठा ली. अन्य तीन लोगों ने उसे पकड़ लिया. उसके कहने पर चालक ने डंपर को इसराना की ओर भगा दिया. उसके जाने के बाद सिपाही से हाथापाई करने वाले तीन लोगों ने कहा कि अगर वे अपनी कार को रोकने या चेक करने की कोशिश करेंगे तो वे आप पर और आपके स्टाफ पर कार डालकर आपको रोकने की कोशिश करेंगे. धमकी देते हुए आरोपी सिपाही का फोन मौके पर पटक कर फरार हो गया.