Yuva Haryana
वैक्सीन की दोनों डोज लगवाए बिना किसी ऑफिस में नहीं होगी एंट्री, इन चार तरीकों से ही मिलेगा सर्टिफिकेट
 

हरियाणा सरकार की सख्ती काम आने लगी है। जिसके बाद आज कार्यालयों में बिना दोनों डोज वैक्सीनेशन के एंट्री नहीं है। हर कार्यालय में कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। ऐसे में सर्टिफिकेट दिखाने के बाद ही एंट्री मिल सकेगी। सर्टिफिकेट पाने के लिए 4 तरीके हैं। एसएमएस या वाट्सएप से मंगवाया जा सकता है।

इसके अलावा विभाग की वेबसाइट Cowin.gov.in से निकालें या फिर नजदीकी पीएचसी में जाकर प्राप्त किया जा सकता है। इसके बाद ही आपको अपनी दोनों डोज लगवाने का सर्टिफिकेट प्राप्त हो सकता है। दिसंबर 2021 के अंत में स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने सख्ती दिखाते हुए यह एलान किया था।

Cowin.gov.in पोर्टल पर जाकर सर्टिफिकेट डाउनलोड पर क्लिक करें। अपना मोबाइल नंबर डालें। मोबाइल नंबर पर आए ओटीपी को बताने के बाद सर्टिफिकेट को डाउनलोड करें।

9013151515 नंबर को सेव करें। वाट्सएप पर जाएं। इस नंबर पर सर्टिफिकेट लिखकर भेजें। आपके नंबर पर ओटीपी आएगा। ओटीपी को वहाट्सएप द्वारा ही डायल करें। इसके बाद आपके पास आपका सर्टिफिकेट पहुंच जाएगा।

आरोग्य सेतु ऐप को खोलें। इस पर मोबाइल नंबर डायल करने के बाद वैक्सीनेशन का स्टेटस मिलेगा। उसे चेक करें। साथ में एसएमएस भी पाएं।

वैक्सीनेशन की डोज लगने के साथ ही आपके नंबर पर एसएमएस आता है। उसमें भी नीले कलर में सर्टिफिकेट डाउनलोड का लिंक दिया जाता है। साथ ही डोज के लगने का संदेश मिलता है।

इसके अलावा अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र या सामान्य अस्पताल में जाकर सर्टिफिकेट निकलवा सकते हैं।

टीमें तैनात, जांच के बाद ही होगी एंट्री
सरकारी सूत्रों के मुताबिक आदेश जारी किए गए हैं कि किसी भी कार्यालय में बिना वैक्सीनेशन के एंट्री नहीं होनी है। ऐसे में कार्यालयों में जांच टीमें नियुक्त कर दी गई हैं। जो हर व्यक्ति को दोनों डोज वैक्सीनेशन होने के प्रमाण के बाद ही एंट्री देंगी। इसके बाद किसी को एंट्री नहीं दी जाएगी।

जिला    कुल वैक्सीनेशन(दोनों डोज)

  • गुरुग्राम    42 लाख 90 हजार 946
  • फरीदाबाद    31 लाख 56 हजार 644
  • करनाल    19 लाख 14 हजार 450
  • हिसार    19 लाख 7 हजार 63
  • सोनीपत    18 लाख 40 हजार 229
  • अंबाला    18 लाख 104
  • सिरसा    16 लाख 36 हजार 148
  • पानीपत    16 लाख 8 हजार 186
  • भिवानी    14 लाख 77 हजार 926
  • यमुनानगर    14 लाख 64 हजार 771
  • जींद    13 लाख 68 हजार 276
  • कैथल    13 लाख 65 हजार 509
  • रोहतक    13 लाख 10 हजार 478
  • रेवाड़ी    12 लाख 91 हजार 663
  • झज्जर    12 लाख 81 हजार 608
  • पलवल    11 लाख 72 हजार 295
  • कुरुक्षेत्र    11 लाख 57 हजार 177
  • महेंद्रगढ़    11 लाख 14 हजार 116
  • फतेहाबाद    10 लाख 16 हजार 740
  • पंचकूला    8 लाख 98 हजार 186
  • नूंह    8 लाख 73 हजार 590
  • दादरी    7 लाख 19 हजार 128