\u0915\u0930\u0928\u093E\u0932 \u092E\u0947\u0902 \u090F\u0915 \u0936\u0935 \u0915\u0947 \u0932\u093F\u090F \u092A\u0941\u0932\u093F\u0938 \u0938\u0947 \u092D\u093F\u0921\u093C\u0940 \u0926\u094B \u092E\u0939\u093F\u0932\u093E\u090F\u0902, \u091C\u093E\u0928\u093F\u090F \u0915\u094D\u092F\u093E \u0939\u0948 \u092A\u0942\u0930\u093E \u092E\u093E\u092E\u0932\u093E ?

“The world’s most advanced Real Content in Hindi”

  1. Home
  2. हरियाणा

करनाल में एक शव के लिए पुलिस से भिड़ी दो महिलाएं, जानिए क्या है पूरा मामला ?

Yuva Haryana, Karnal हरियाणा के करनाल जिले से हैरान करने वाला मामला सामने आया है। बता दें कि यहां बीते दिन शिक्षा विभाग के एक फोर्थ क्लास कर्मचारी ने आत्महत्या कर ली। जिसके बाद पूर्व पत्नी उसकी मां के साथ आ गई। इन दोनों के अलावा लिव इन में रह...


करनाल में एक शव के लिए पुलिस से भिड़ी दो महिलाएं, जानिए क्या है पूरा मामला ?

Yuva Haryana, Karnal

हरियाणा के करनाल जिले से हैरान करने वाला मामला सामने आया है। बता दें कि यहां बीते दिन शिक्षा विभाग के एक फोर्थ क्लास कर्मचारी ने आत्महत्या कर ली। जिसके बाद पूर्व पत्नी उसकी मां के साथ आ गई। इन दोनों के अलावा लिव इन में रह रही प्रेमिका ने भी कर्मचारी के शव पर हक जताया।

इतना ही नहीं बल्कि उसे पाने के लिए वह मृतक के परिवार और पुलिस दोनों से भिड़ गई। उसने आत्महत्या तक की धमकी दे डाली। आखिर 5 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने चपरासी का शव उसकी मां और पत्नी को ही सौंपा।

करनाल में एक शव के लिए पुलिस से भिड़ी दो महिलाएं, जानिए क्या है पूरा मामला ?

जानकारी के मुताबिक करनाल जिले के गांव रायपुरा जाट्‌टान का रहने वाला हरिओम अपने पिता की मौत के बाद उसकी जगह शिक्षा विभाग में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के तौर पर नौकरी पर लग गया था। इन दिनों जिला शिक्षा अधिकारी (DEO) की गाड़ी चलाता था।

गुरुवार को करीब 38 साल के हरिओम ने संदिग्ध हालात में सेक्टर 32 ग्राउंड में जहर खा लिया। तबीयत बिगड़ने पर उसकी लिव इन पार्टनर ने उसे अस्पताल में दाखिल कराया, जहां मौत हो गई। शुक्रवार को पोस्टमॉर्टम के दौरान सुबह करीब 9 बजे हरिओम की लिव इन पार्टनर कुछ लोगों को साथ लेकर मोर्चरी पहुंच गई। इसी बीच हरिओम की मां कृष्णा, पत्नी सुमन और अन्य परिजन भी पहुंच गए।

करनाल में एक शव के लिए पुलिस से भिड़ी दो महिलाएं, जानिए क्या है पूरा मामला ?

पोस्‍टमॉर्टम के बाद दोनों पक्ष हरिओम का शव लेने पर अड़ गए। दोनों पक्ष एसपी गंगा राम पूनिया के पास भी पहुंचे। उन्होंने दोनों पक्षों को भरोसा दिया कि अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। दोनों पक्ष एक बार फिर मोर्चरी पहुंचकर आमने-सामने आ गए।

जिसके चलते थाना प्रभारी जितेंद्र सिंह के नेतृत्व में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया। इस पर भी बात नहीं बनी तो DSP विजय देशवाल भी मौके पर पहुंचे। उनके समझाने पर भी जब दोनों में से कोई पक्ष नरम नहीं पड़ा तो आखिर कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने शव हरिओम की मां को सौंप दिया।

करनाल में एक शव के लिए पुलिस से भिड़ी दो महिलाएं, जानिए क्या है पूरा मामला ?

मां कृष्णा देवी ने बताया कि उसका बेटे हरिओम की साल 2001 में शादी कर दी थी। पत्नी सुमन के साथ वह ठीक-ठाक रह रहा था और उन्हें करीब तीन साल बाद ही एक बेटा भी हुआ, लेकिन करीब दस साल पहले वह करनाल आकर रहने लगा और उन्हें पता चला कि वह पंजाब के मुकेरियां, जिला होशियारपुर की रहने वाली महिला के साथ रह रहा है। जब वह उसे परेशान करती तो हरिओम उनके पास आ जाता था।

उन्होंने आरोप लगाए कि उसने उक्त महिला से ही मजबूर होकर आत्महत्या की है। मां कृष्णा ने बताया कि हरिओम का पत्नी सुमन से तलाक को लेकर अदालत में केस भी चला हुआ है और कोर्ट के आदेश पर वह पत्नी के नाम करीब आठ हजार रुपये खर्च राशि के तौर पर दे रहा है।

करनाल में एक शव के लिए पुलिस से भिड़ी दो महिलाएं, जानिए क्या है पूरा मामला ?

वहीं लिव इन पार्टनर ने बताया कि वह हरिओम को 10 साल से जानती है और करीब डेढ़ साल पहले कलंदरी गेट गुरुद्वारे में दोनों ने शादी भी कर ली थी। वह अपने माता-पिता के घर जाता भी नहीं था और उसके साथ बेहद खुश था।

गुरुवार को अचानक ही हरिओम ने उसे फोन करके कहा कि उसने किसी से कर्ज लिया हुआ है और वो लोग परेशान कर रहे हैं। इसी के चलते उसने जहर खा लिया है। उसने उसके पास एक वीडियो भी भेजा।

करनाल में एक शव के लिए पुलिस से भिड़ी दो महिलाएं, जानिए क्या है पूरा मामला ?

महिला ने बताया कि हरिओम ने कर्ज क्यों, कितना और किससे लिया था, यह वह नहीं जानती, लेकिन उसने उसे फोन पर कहा था कि आत्महत्या का कदम न उठाएं। दोनों मिलकर कर्ज चुका देंगे।

थाना प्रभारी जितेंद्र सिंह का कहना है कि पुलिस ने पूरे मामले की गहनता से छानबीन करने के बाद शव मां पक्ष को सौंप दिया गया। अब उसके द्वारा आत्महत्या मामले की हर पहलू से जांच की जाएगी। मृतक ने कर्ज किससे और क्यों लिया था, यह अभी जांच के दौरान पता लगाया जाएगा।