Yuva Haryana
LPG Subsidy: रसोई गैस सब्सिडी नियमों में होने वाला है बड़ा बदलाव, सरकार ने बनाई नई योजना, जानें किसे मिलेगा लाभ
 

रसोई गैस सिलेंडर की सब्सिडी को लेकर लगातार सवाल उठ रहे है। कुछ ग्राहकों को सब्सिडी मिल रही है लेकिन कई जगह लोगों को सब्सिडी का लाभ नहीं मिल रहा है। ऐसे लेकिन इस नए साल पर ग्राहकों को रसोई गैस सिलेंडर की सब्सिडी से जुड़े सभी सवालों के जवाब मिल जाएंगे।

नए साल पर कमर्शियल एलपीजी सिलेंडर की कीमत में तो 100 रुपये की कमी हुई, लेकिन घरेलू गैस की कीमत जस की तस बनी हुई है। हाल ये है कि अब रसोई गैस सिलेंडर की कीमत 1000 तक पहुंच जाएगी।

एलपीजी की कीमतों को लेकर सरकार की तरफ से कोई साफ जवाब नहीं आ रहा है। लेकिन सरकार के एक आंतरिक मूल्यांकन में इसके संकेत मिल रहा है कि उपभोक्ता एक सिलेंडर के लिए 1000 रुपये तक देने के लिए तैयार हैं। सूत्रों की मानें तो एलपीजी सिलेंडर को लेकर सरकार दो रुख अपना सकती है।

पहला, या तो सरकार बिना सब्सिडी के सिलेंडर सप्लाई करे और दूसरा, कुछ चुनिंदा उपभोक्ताओं को भी सब्सिडी का लाभ दिया जाए। सब्सिडी देने के बारे में सरकार की तरफ से अभी कुछ भी स्पष्ट नहीं किया गया है।

LPG Gas Subsidy

कहा जा रहा है कि एलपीजी सब्सिडी के नियमों में 10 लाख रुपये इनकम के नियम को लागू रखा जाएगा और उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को सब्सिडी का लाभ मिलेगा। लेकिन बाकी लोगों के लिए सब्सिडी खत्म हो सकती है।

बता दें कि पिछले कई महीनों से कुछ जगहों पर एलपीजी पर सब्सिडी बंद है और यह नियम मई 2020 से चला आ रहा है। अंतरराष्ट्रीय बाजारों में कोरोना महामारी के दौरान कच्चे तेल और गैस की कीमतें लगातार गिरी है उसके बाद ही यह कदम उठाया गया। हालांकि इस वक्त तक सरकार ने एलपीजी सिलेंडर पर पूरी तरह से सब्सिडी बंद नहीं की है। और गैस सिलेंडर की कीमत बढ़ती ही जा रही है।

सब्सिडी पर सरकार का खर्च वित्तीय वर्ष 2021 के दौरान 3,559 रुपये रहा। वित्तीय वर्ष 2020 में यह खर्च 24,468 करोड़ रुपये का था। दरअसल ये डीबीटी स्कीम के तहत है जिसकी शुरुआत जनवरी 2015 में की गई थी जिसके तहत ग्राहकों को गैर सब्सिडी एलपीजी सिलेंडर का पूरा पैसा चुकाना होता है।