Yuva Haryana
LPG Subsidy : एलपीजी सब्सिडी को लेकर सरकार ने बनाया जबरदस्त प्लान, जानें अब किसे मिलेंगे पैसे
 

LPG Subsidy : रसोई एलपीजी (Liquefied Petroleum Gas) गैस सिलेंडर की बढ़ती महंगाई को लेकर सरकार की राय अभी सामने नहीं आई है। लेकिन सरकार के आंतरिक आकलन में यह संकेत मिल रहा है कि उपभोक्ता एक LPG सिलेंडर के लिए 1000 रुपये तक देने को तैयार हैं। सूत्रों के मुताबिक एलपीजी सिलेंडर को लेकर सरकार दो रुख अपना सकती है। पहले या तो सरकार बिना सब्सिडी (Subsidy) के सिलेंडर की आपूर्ति करे। दूसरा, कुछ चुनिंदा उपभोक्ताओं को भी सब्सिडी का लाभ दिया जाए।

What is the Government's Plan on LPG Subsidy?

सब्सिडी (Subsidy) देने को लेकर अभी तक सरकार की ओर से कुछ भी स्पष्ट नहीं किया गया है। लेकिन अब तक मिली जानकारी के अनुसार 10 लाख रुपये की आय का नियम लागू रहेगा और उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को एलपीजी (Liquefied Petroleum Gas) सब्सिडी का लाभ मिलेगा. आपको बता दें कि बाकी लोगों के लिए LPG  सब्सिडी खत्म हो सकती है।

LPG Subsidy Rules Changed

अगर आपके बैंक खाते में एलपीजी (Liquefied Petroleum Gas) सब्सिडी (Subsidy) नहीं आ रही है तो इसके कई कारण हो सकते हैं। सबसे बड़ा कारण यह हो सकता है कि आपका बैंक खाता नंबर गलत है। इसका एक कारण यह भी हो सकता है कि उनका आधार कार्ड LPG कनेक्शन से लिंक नहीं है।

सरकार 10 लाख रुपये या उससे अधिक की वार्षिक आय वाले लोगों को LPG सब्सिडी  (Subsidy) प्रदान नहीं करती है। उन्हें इस दायरे से बाहर रखा गया है। अगर आपकी आय 10 लाख रुपये से कम है तो आप इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। अगर आपकी आय 10 लाख रुपये से कम है लेकिन आपका जीवनसाथी भी कमा रहा है और उनकी संयुक्त आय 10 लाख रुपये से अधिक है, तो आप एलपीजी (Liquefied Petroleum Gas) सब्सिडी के लिए पात्र नहीं होंगे।

What is the Status of Subsidy Now?

आपको बता दें कि पिछले कई महीनों से कुछ जगहों पर एलपीजी (Liquefied Petroleum Gas) पर सब्सिडी (Subsidy) बंद है और यह नियम मई 2020 से चला आ रहा है। अंतरराष्ट्रीय बाजारों में कोरोना महामारी के दौरान कच्चे तेल और गैस की कीमतें लगातार गिरी है उसके बाद ही यह कदम उठाया गया। हालांकि इस वक्त तक सरकार ने एलपीजी सिलेंडर (LPG cylinder) पर पूरी तरह से सब्सिडी (Subsidy) बंद नहीं की है।

Government Spends so Much on Subsidy

सब्सिडी पर सरकार का खर्च वित्तीय वर्ष 2021 के दौरान 3,559 रुपये रहा। वित्तीय वर्ष 2020 में यह खर्च 24,468 करोड़ रुपये का था। दरअसल ये डीबीटी स्कीम के तहत है जिसकी शुरुआत जनवरी 2015 में की गई थी जिसके तहत ग्राहकों को गैर सब्सिडी एलपीजी सिलेंडर (LPG cylinder) का पूरा पैसा चुकाना होता है। वहीं, सरकार की तरफ से सब्सिडी (Subsidy) का पैसा ग्राहक के बैंक खाते में रिफंड कर दिया जाता है। चूंकि यह रिफंड डायरेक्ट होता है, इसलिए स्कीम का नाम DBTL रखा गया है।

Price is Increasing Continuously

गैस सिलेंडर की कीमत बढ़ती ही जा रही है। पिछले साल यानी साल 2021 में गैस सिलेंडर की कीमत में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। नए साल में अब तक घरेलू गैस की कीमत का कोई भी अपडेट नहीं आया है।