Yuva Haryana
हरियाणा के कैथल-पटियाला रोड के लिए बनेगा बाईपास, जानें कौनसे कौनसे गांवों से होकर गुजरेगा ?
 

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में हुई हाई पावर लैंड परचेज कमेटी (एचपीएलपीसी) की बैठक में कैथल जिला में चीका सिटी से पटियाला रोड तक बाईपास निर्माण के लिए भू-मालिकों की सहमति से ई-भूमि पोर्टल के माध्यम 60.66 एकड़ भूमि की खरीद को मंजूरी दी गई है, जिसकी लागत लगभग 28.51 करोड़ रुपये आएगी।

मुख्यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से संबंधित जिला उपायुक्तों के साथ एचपीएलपीसी की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि भू-मालिकों द्वारा उनकी सहमति से दी गई भूमि खरीदने के बाद प्रस्तावित परियोजनाओं के क्रियान्वयन में तेजी लाई जाए।

बैठक में उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा और राजस्व एवं आपदा प्रबंधन राज्यमंत्री अनूप धानक भी उपस्थित रहे। इसके अलावा, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रस्तावित सरकारी परियोजनाओं के लिए अपनी जमीन देने पर सहमति जताने वाले भू-मालिकों ने भी बैठक में हिस्सा लिया।

मुख्यमंत्री ने चीका, बदसुई, हरिगढ़, किंगान, कलार माजरा, पीडल, तिताना गांवों के भू- मालिकों से बातचीत करते हुए कहा कि उक्त बाइपास के बनने से चीका के साथ- साथ आसपास के गांवों को भी काफी फायदा होगा और निश्चित रूप से जिले के समग्र विकास के साथ-साथ रोजगार, व्यवसाय जैसे कई अन्य अवसरों के द्वार भी खुलेंगे।

बैठक में जिला फतेहाबाद के टोहाना में बस स्टैंड के निर्माण के संबंध में एक अन्य एजेंडे पर चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने उपायुक्त श्री प्रदीप गोदारा को निर्देश दिए कि भू- मालिकों से वार्ता कर जल्द से जल्द परियोजना को अंतिम रूप दें।

मुख्यमंत्री ने क्षेत्र के किसानों से संवाद किया और किसानों ने बाईपास की सौगात देने पर मुख्यमंत्री का आभार प्रकट किया। इस मौके पर नायब तहसीलदार सुनील कुमार, कार्यकारी अभियंता वरुण कंसल, डीएफओ रणधीर सिंह, डीआइओ दीपक खुराना, एडीआइओ राजीव के अलावा क्षेत्र के अन्य किसान मौजूद रहे।

12 किलोमीटर का बाईपास
वीडियो कान्फ्रेंस में उपायुक्त प्रदीप दहिया ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल की सौगात से गुहला-चीका क्षेत्र की सूरत बदलेगी। इस वर्ष में पीडल से टटियाणा बाईपास का निर्माण शुरू किया जाएगा, जिसकी प्रक्रिया बड़ी तेजी से चल रही है। 

इस बाईपास पर लगभग 55 करोड़ रुपये की राशि खर्च होगी और यह लगभग 12 किलोमीटर से अधिक का होगा। प्रोजेक्ट के लिए भू-मालिकों की सहमति से ई-भूमि पोर्टल के माध्यम 60.66 एकड़ भूमि की खरीद को मंजूरी दी गई है, जिसकी कीमत लगभग 28.51 करोड़ रुपये है। बाईपास बनने से आमजन को यातायात की और बेहतरीन व्यवस्था मिलेगी।

इन गांवों को भी होगा फायदा
मुख्यमंत्री ने चीका, बदसूई, हरिगढ़, किंगान, कल्लरमाजरा, पीडल, टटियाणा गांवों के भू-मालिकों से बातचीत करते हुए कहा कि बाईपास के बनने से चीका के साथ- साथ आसपास के गांवों को भी काफी फायदा होगा। निश्चित रूप से जिले के समग्र विकास के साथ-साथ रोजगार, व्यवसाय जैसे कई अन्य अवसरों के द्वार खुलेंगे।