Yuva Haryana
यो हरियाणा है प्रधान: 94 साल की दादी इतनी तेज भागी, जीत कर ले आई गोल्ड मैडल
 
 आप अपने जीवन में कुछ ऐतिहासिक करना चाहते हैं तो उम्र सिर्फ एक अंक है और कुछ भी नहीं कई बार लोगों को यह लगता है किस ज्यादा उम्र में वह कुछ नहीं कर सकते लेकिन ऐसी सोच को गलत साबित करते हुए भारत की दादी ने पूरे देश में हिंदुस्तान का डंका बजा दिया है।
हरियाणा की रहने वाली भगवानी देवी वर्ल्ड मास्टर्स एथलेटिक्स चैंपियनशिप में अब 94 साल की उम्र में गोल्ड और दो ब्रॉन्ज जीतकर दुनिया के लिए प्रेरणा बन रही हैं. बता दें, भगवानी ने फिनलैंड के टाम्परे में 100 मीटर स्प्रिंट स्पर्धा में सिर्फ 24.74 सेकंड के समय के साथ स्वर्ण पदक जीता. इसके अलावा शॉटपुट में भी उन्होंने कांस्य पदक जीता था।
इतनी उम्र होने के बाद भी दादी ने पूरे देश में वाहवाही बटोर ली है सोशल मीडिया पर भी दादी को लेकर लोग कई बधाइयां दे रहे हैं यही नहीं खेल मंत्रालय के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से भी दादी को बधाई दी गई और यह जानकारी जनता के बीच साझा की गई।
भारत की 94 साल की भगवानी देवी ने एक बार फिर कहा है कि उम्र सिर्फ एक नंबर है. उन्होंने स्वर्ण और कांस्य पदक जीते. वास्तव में एक साहसिक प्रदर्शन है. दिल्ली स्टेट एथलेटिक्स चैंपियनशीप में 100 मीटर रेस, शाटपुट और जेवेलिन थ्रो में 3 गोल्ड जीते हैं. अंदाजा लगा सकते हैं कि किस प्रकार दादी एक मिसाल पेश होकर सामने आई है।