Yuva Haryana
हरियाणा की राजनीति में बदलाव की बयार, चौधरी की चाह में सर माथे महिलाएं
 

नगर निगम मेयर पद अनुसूचित जाति महिला के लिए आरक्षित किए गए फैसले के बाद राजनैतिक सरगर्मियां तेज हो गई है । वैसे इस फैसले ने कई सामान्य और पिछड़ा वर्ग के नेताओ के अरमान धूल गए  ह। लेकिन अनुसूचित जाति के कई नेता फील्ड में सक्रिय हो गए हैं। किसी की पत्नी तो किसी की मां के साथ सीएम मनोहर लाल के साथ फोटो इंटरनेट मीडिया पर भी खूब वायरल हो रही है । इनमे मौजूदा पार्षदों की संख्या ज्यादा हैं।  नगर निगम के गठन के बाद यह तीसरा मेयर होगा । पहली मेयर कांग्रेस से सरोज बाला सामान्य वर्ग व दूसरे मदन चौहान पिछड़ा वर्ग से संबंध रखते है ।


मार्च 2010 में नगर निगम का गठन हुआ ।  पहला चुनाव दो जून 2013 को हुआ जुलाई - 2013 में सरोज बाला व अन्य पार्षदों ने शपथ ने शपथ ग्रहण की । दूसरा चुनाव दिसंबर- 2018 में हुए। इस दौरान भाजपा से मदन चौहान मेयर बने। छह जनवरी 2024 तक इनका कार्यकाल है। नगर निगम के कुल 22 वार्ड हैं। 304 बूथ हैं। करीब तीन लाख वोट हैं। इनमें अनुसूचित जाति की वोट करीब 20 प्रतिशत हैं। रादौर विधानसभा क्षेत्र 56 बूथ हैं। ये बूथ वार्ड नंबर 18, 19, 20, 21 व 22 में हैं। वार्ड नंबर 18 में सर्वाधिक बूथ हैं। 19 नंबर वार्ड में 70 प्रतिशत रादौर विधानसभा क्षेत्र में आता है।

अनुसुचित श्रेणी से संबंध रखने वाले भाजपा समर्थित पार्षदों की इन दिनों बांछें खिली हुई है। मेयर पद महिला अनुसूचित जाति का आरक्षित करने पर सीएम मनोहर लाल का धन्यवाद भी कर रहे हैं और इस बहाने सुर्खियां भी खूब बटौर रहे हैं। इंटरनेट मीडिया पर इनको मेयर पद के लिए अग्रिम बधाइयां भी दी जा रही हैं। इनके अलावा नगर निगम में लंबे समय से ठेकेदारी कर रहे एक नेता जी के परिवार से भी मेयर पद के लिए दावा ठोकने की चर्चा जोरों पर है। पार्टी में अच्छे पद पर होने के कारण इनकी दावेदारी भी मजबूत बताई जा रही है। इनके अलावा अन्य ठेकेदार भी अपनी पत्नी के साथ फोटो लगाकर सीएम के धन्यवाद संबंधी पोस्ट इंटरनेट मीडिया पर डाली है।

मेयर का पद अनुसूचित वर्ग के लिए आरक्षित किए जाने पर सामान्य व पिछड़ा वर्ग के कई नेताओं की तैयारी धरी की धरी रह गई है। हालांकि चुनाव अभी दूर हैं, लेकिन इन नेताओं से अभी से बिसात बिछानी शुरू कर दी थी। यह किसी को आभास नहीं था कि मेयर पद अनुसूचित श्रेणी की महिला के लिए आरक्षित हो जाएगा। उधर, कांग्रेस, आप व इनेलो में अंदरखाने चर्चाएं जरूर हैं, लेकिन खुलकर अभी पत्ते नहीं खोले जा रहे हैं। मौजूदा मेयर मदन चौहान पिछड़ा वर्ग से संंबंध रखते हैं।