Yuva Haryana
आखिर कौन है लॉरेंस बिश्नोई ? क्यों जुड़ रहा है सिद्धू मुसेवाला की हत्या के साथ नाम, कभी सलमान खान को भी दे चुका हैं जान से मारने की धमकी
 
पंजाब में रविवार को आई एक खबर ने पूरे प्रदेश में खलबली मचा दी थी , पंजाब के मानसा जिले में अज्ञात लोगों ने कांग्रेस नेता और पंजाबी गायक शुभदीप सिंह उर्फ सिद्दू मूसेवाला की गोली मारकर हत्या कर दी है। बताया गया है कि अज्ञात हमलावरों ने अचानक से सिद्दू मूसेवाला पर एके-47 से करीब 30 राउंड फायरिंग की। जिसमें मूसेवाला की मौत हो गई और यह हमला पंजाब सरकार की ओर से सुरक्षा हटाए जाने के एक दिन बाद ही हुआ। उधर एनएसयूआई के राष्ट्रीय सचिव रोशनलाल बिट्टू ने मूसेवाला की हत्या के लिए अरविंद केजरीवाल और भगवत मान को जिम्मेदार बताया है। उन्होंने कहा है कि भगवंत मान सरकार के गलत फैसले के चलते कांग्रेस नेता और प्रसिद्ध पंजाबी गायक सिद्धू मुझसे वाले की हत्या कर दी गई है।
एनएसयूआई के राष्ट्रीय सचिव रोशनलाल बिट्टू ने आम आदमी पार्टी के मुख्य अरविंद केजरीवाल और पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान पर सवाल किया है, कि क्यों सिद्धू मूसेवाला की सुरक्षा हटाना उस योजना का हिस्सा था। दरअसल पंजाब विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी ने सिद्धू मूसेवाला को मनसा विधानसभा सीट से टिकट दिया था। हालांकि इस चुनाव में आम आदमी पार्टी की लहर के चलते सिद्धू मूसेवाला को आप के उम्मीदवार विजय सिंगला के हाथों करारी हार सामना करना पड़ा था।
पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला का जन्म 17 जून 1993 में हुआ था। मनसा जिले के मूसे वाला गांव में रहने वाले थे। पंजाबी गायक मूसे वाला को स्पेशल मीडिया पर लाखों फैन फॉलोइंग है। पिता भोला सिंह भारतीय सेना से रिटायर्ड है। इसके अलावा उनकी मां चरन कौर मूसेवाला गांव की सरपंच है। सिद्धू मूसेवाले ने कॉलेज के दिनों में संगीत सीखा था। जिसके बाद वह कैनेडा चले गए थे। इंस्टाग्राम पर सिद्धू मूसेवाला की जबरदस्त फैन फॉलोइंग देखने को मिलती है। इंस्टाग्राम पर उन्हें 7 मिलियन से भी ज्यादा यूजर्स फॉलो करते हैं। मौत से ठीक चार दिन पहले उन्होंने आखिरी पोस्ट किया था
देश के सबसे बड़े गैंगस्टर में शुमार जेल में बंद रहने के बाद भी व्हाट्सएप के जरिए सुपारी लेकर जेल से ही हत्या जैसे संगीन जुर्म को अंजाम दे देता है। इसका कबूलनामा भी वह अपने फेसबुक अकाउंट से कर देता ।है बताया जा रहा है कि इसके गैंग में करीब 600 कुख्यात शार्प शूटर शामिल है इस गैंग का नेटवर्क पूरे देश में फैला हुआ है। 22 फरवरी 1992 को पंजाब के फाजिल्का में जन्मे लॉरेंस बिश्नोई पर तकरीबन 50 से ज्यादा अपराधिक मुकदमे दर्ज है। परिवार की आर्थिक स्थिति काफी मजबूत है। करोड़ों की संपत्ति का मालिक लॉरिस चंडीगढ़ विश्वविद्यालय से पढ़ाई कर चुका है। कहा जाता है कि पंजाब विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव में हार के चलते लॉरेंस की जिंदगी जुर्म के रास्ते पर चल पड़ी। लॉरेंस के पिता को पुलिस में रहे, लेकिन बेटे को जुर्म के रास्ते पर जाने से नहीं रोक पाए।
नामी गैंगस्टर गोल्डी बरार फिलहाल कनाडा में है। जबकि उसकी करीबी साथी और गैंग का मुखिया लॉरेंस बिश्नोई राजस्थान के अजमेर जेल में बंद है। लॉरेंस बिश्नोई के नेटवर्क का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि वह जेल में बंद रहने के दौरान भी गैंग को चला रहा है। वह अपने गुर्गों के जरिये हुकुम जारी करता है और फिर आपराधिक वारदात को अंजाम देता है।
गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई बॉलीवुड एक्टर सलमान खान की हत्या करना चाहता था। इसके पीछे असल वजह यह थी कि सलमान खान पर काले हिरण के शिकार का आरोप लगा था। जिसके बाद सलमान खान और असिन अभिनीत फिल्म रेडी की शूटिंग के दौरान एक बार लॉरेंस ने अपने गूंगों के जरिए सलमान खान पर हमले की पूरी योजना बनाई भी थी। यह अलग बात है कि लॉरेंस बिश्नोई को पसंद का हथियार नहीं मिला तो यह योजना असफल हो गई थी। बताया जा रहा है कि गैंगस्टर बिश्नोई समाज से है। ऐसे में काले हिरण के शिकार को लेकर वह नाराज था। जिसमें सलमान भी आरोपी बने थे।