Yuva Haryana
कहां से आ रहे है, हरियाणा के विधायको को धमकी भरे फोन ?
 
पिछ्ले कुछ दिनों से हरियाणा में विधायकों को धमकी भरे फोन आ रहे है। अब तक छ्ह विधायकों को धमकी भरे फोन काल आ चुके है। जिसके बाद हरियाणा में डर का माहोल बना हुआ है। 
मुख्यमंत्री मनोहर लाल और गृह मंत्री अनिल विज जहां लगातार पुलिस अधिकारियों की बैठकें लेकर पूरे मामले की तह में पहुंचने का दबाव बनाए हुए हैं, वहीं हरियाणा पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (STF) को केंद्र सरकार की विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों की मदद की जरूरत पड़ गई है।
विधायकों को मिल रही धमकियों का मामला लगातार सामने आ रहा है। इस मामले का कनेक्‍शन पाकिस्‍तान के साथ निकल रहा है। जाँच पड़ताल से पता चला है कि चार विधायकों को दुबई के फोन नंबर से पाकिस्‍तान से धमकी भरे काल किए गए हैं। इन फोन काल से माना जा रहा है कि इस तरह के फोन काल का असली मकसद डर का माहौल पैदा  करना है। 
यह सारी काल विधायकों को विदेश के नंबर से आई हैं, इसलिये केंद्र सरकार के सहयोग के बिना उनकी सुरक्षा एजेंसियों से संपर्क साधना मुश्किल है। आशंका जताई जा रही है कि किसी दूसरे देश की इंटेलीजेंस (सुरक्षा एजेंसी) डर पैदा करने के लिये स्वयं भी फोन काल करवा सकती है।
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल राज्य के गृह सचिव राजीव अरोड़ा, पुलिस महानिदेशक पीके अग्रवाल और सीआइडी चीफ आलोक कुमार मित्तल से निरंतर फीडबैक हासिल कर रहे हैं। राज्य के छह विधायकों को फोन काल आए हैं। सढ़ोरा की कांग्रेस विधायक रेणुबाला, सफीदो के कांग्रेस विधायक सुभाष गांगोली, सोहना के भाजपा विधायक संजय सिंह और सोनीपत के कांग्रेस विधायक सुरेंद्र पंवार को 28 से 30 जून के बीच फोन काल आए हैं, जबकि बादली के कांग्रेस विधायक कुलदीप वत्स के घर पर हमला हुआ था। फिरोजपुर झिरका के कांग्रेस विधायक मामन खान को भी धमकियां मिली हैं, लेकिन कुलदीप वत्स की तरह मामन का मामला भी आपसी खुन्नस का बताया जा रहा है।