Yuva Haryana
पानीपत में हुआ दर्दनाक हादसा, करंट लगने से दो मासूम की मौत, खेलते खेलते हुई दुर्घटना
 
पानीपत में खेलते-खेलते दो मासूमों की मौत हो गई। दोनों सगे भाई करंट की चपेट में आए गए। चौटाला रोड स्थित कर्ण देव हैचरी में एक और दो वर्षीय सगे भाइयों की मौत हो गई। दोनों बच्चों ने दीवार को छू लिया था, जिसमें करंट था।
बिहार के बेगूसराय के रहने वाला है परिवार
बिहार के जिला बेगूसराय के मधुरापुर गांव के रोहित ने बताया कि वह पानीपत में दो साल पहले आए हैं और चौटाला रोड स्थित कर्ण देव हैचरी में लेबर क्वार्टर में रहते हैं। उनके तीन बच्चे हैं। जिनमें बड़ी बेटी 5 वर्षीय नंदनी है। दो बेटे दो वर्षीय सनोज और एक वर्षीय अमर थे। रविवार को वह फीड मिल में काम कर रहा था। शाम करीब पांच बजे सनोज और अमर उसके पास आए। तभी हल्की बारिश शुरू हो गई।
उसने दोनों को मां शांति के पास जाने को कहा। वह दोनों घर की तरफ जा रहे थे। रास्ते में उन्होंने एक दीवार को छू लिया, जिसमें से करंट लगने से दोनों बेटे बेहोश हो गए। बच्चों को बेहोश पड़ा देख लोग इकट्ठा हो गए। बच्चों की पहचान हुई तो लोगों ने मां को सूचना दी। वह भी बेहोश हो गई। दोनों बच्चों को एक निजी अस्पताल में दाखिल कराया, जहां डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। सेक्टर-29 थाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर छानबीन की। शवों को पोस्टमार्टम के लिए सामान्य अस्पताल के शवगृह में रखवा दिया है। सेक्टर-29 थाना प्रभारी मंजीत का कहना है कि बच्चों की मौत के मामले की जांच की जा रही है। 
हाईटेंशन तार की वजह से हुआ हादसा
रोहित ने बताया कि दीवार के ऊपर से हाईटेंशन लाइन गुजर रही है। बारिश में दीवार गिली होने की वजह उसमें अर्थ बना हुआ था, जिस वजह से यह हादसा हुआ। रोहित को पछतावा है कि वह काश दोनों बेटों को घर नहीं भेजता, तो हादसा नहीं होता।