Yuva Haryana
प्रदेश सरकार ने हरियाणा की समस्त जैलों में बदला अंग्रेजों के समय से चला आ रहा समस्त कानून, अब खाने-पीने के समय के साथ जेल के अन्य सभी नियमों में हुए बदलाव
 

अब हरियाणा प्रदेश हरियाणा की जेलों में अंग्रेजों के समय से चले आ रहे खाने के नियमों में बदलाव किया गया है। जी हाँ, आपको बता दे की पहले सूर्यास्त के समय बंदियों को खाना दिया जाता था लेकिन अब इस परंपरा को बदलते हुए हरियाणा में खाने का समय बदला गया है।
अब प्रदेश की समस्त जेलों में गर्मियों में रात के भोजन का समय 7 से 8 और सर्दियों में यह समय सायं 6 से 7 बजे का होगा।


क्योकि पहले जेलों में शाम के समय ही रात का खाना दिया जाता था, क्योंकि उस समय जेलों में बिजली की व्यवस्था नहीं थी के चलते सरकार ने इस फैसले को लिया था लेकिन अब प्रदेश की लगभग समस्त जेल आधुनिक हो चुकी हैं और यहां पर तमाम सुविधाएं मौजूद हैं।
इतना ही नहीं प्रदेश के गांव के एक कार्यक्रम में पहुंचे जेल मंत्री रणजीत सिंह चौटाला ने कहा कि अब प्रदेश के समस्त जिलों में जैविक खेती भी भी करवाई जाएगी।


इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि कुरुक्षेत्र जेल की भूमि पर शुरू किए गए पेट्रोल पंप पर 12 लाख रुपये के तेल की बिक्री प्रतिदिन हो रही है। अंबाला, हिसार जेल जो शहर के अंदर आ गई हैं, उन्हें भी बाहर शिफ्ट किया जाएगा और अब हरियाणा प्रदेश के फतेहाबाद और चरखी दादरी में भी नई जेलों का निर्माण किया जा रहा है, इन दोनों जिलों के तैयार होने के बाद भी यह भी आधुनिक खेल बन जाएगी और इन जेलों में भी यह तमाम सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएगी।


अंत में इस कार्यक्रम में मौजूद बिजली जेल मंत्री रणजीत सिंह चौटाला ने कहा कि भिवानी, नारनौल व हिसार की जेलों में सालासर बाला जी को चढ़ाए जाने वाले सवामणी प्रसाद को भी तैयार करने का प्रस्ताव है। जेल मंत्री ने आखरी में यह भी कहा कि पिछले तीन वर्षों में प्रदेश के समस्त आधुनिक जेल स्तर को सुधारने के लिए एक अनूठी पहल की गई है, जो भी एक तरह से प्रदेश के विकास में कारगर साबित होगी। 
इस कार्यक्रम में मंत्री ने बिजली से संबंधित लोगों की अन्य समस्याओं का भी मौके पर ही निपटारा किया ।