Yuva Haryana
रेलवे में जेई और टेक्नीशियन भर्ती का मामला, रेल मंत्रालय ने सभी चेयरमैन और आरआरबी से मांगी पूरी रिपोर्ट
 
रेलवे में टेक्नीशियन और जूनियर इंजीनियर पदों की वेटिंग लिस्ट अभी क्लियर नहीं हुई जबकि इन अभ्यर्थियों की चिंताएं लगातार बढ़ रही है ।टेक्नीशियन के लिए 36 हजार 576 और जेई के 13 हजार 487 पदों पर वैकेंसी तो निकाली, लेकिन इनको अभी तक तैनाती नहीं दी गई है। इसी को लेकर रेलवे की स्टेंडिंग कमेटी में हुई मीटिंग में भी यह मुद्दा उठा था, लेकिन मामला इससे आगे नहीं बढ़ा है। दूसरी और नौकरी पर तैनाती का इंतजार कर रहे इन अभ्यर्थियों ने अपने अपने क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों के माध्यम से अपनी बात रेल मंत्री सहित रेलवे अधिकारियों तक पहुंचाई है, लेकिन अभी तक इस पर आधिकारिक रूप से कोई लेटर जारी नहीं हो पाया है।ऐसे में यह भी अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं इनके चिंता है कि एक और उनकी आयु सीमा निकल रही है तो दूसरी ओर आर्थिक हालात भी ज्यादा बेहतर नहीं है।जल्द से जल्द उनको तैनाती दी जाए फिर चाहे वह किसी भी रेलवे बोर्ड के तहत ही क्यों ना हो फिलहाल इन अभ्यर्थियों के पास इंतजार के सिवा कोई चारा नहीं है इस मुद्दे पर रेलवे कमेटी के सदस्य डॉ अमर सिंह ने रेल मंत्री को ज्ञापन भी दिया।
सन 2018 में सहायक लोको पायलट और टेक्नीशियन की भर्ती 64 हजार 371 निकली थी, जिसमें से एएलपी के 27 हजार 797 और टेक्नीशियन के 36 हजार 576 पद थे। मेडिकल के बाद दोनों ही पदों के परीक्षार्थियों को वेटिंग लिस्ट में डाल दिया था। हालांकि एएलपी की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कर दी गई, लेकिन वेटिंग में रखे गए टेक्नीशियनों के शत प्रतिशत लिस्ट जारी नहीं की। इसी प्रकार जूनियर इंजीनियर के अभ्यर्थियों को भी वेटिंग लिस्ट में रखा हुआ है। इन अभ्यर्थियों का मेडिकल हो चुका है, लेकिन रिक्त पदों पर इनकी भर्ती का कोई विकल्प नहीं निकाला गया। जेई के 13 हजार 487 पदों के लिए यह भर्ती सन 2018 में निकली थी, जिसकी मेडिकल प्रक्रिया सन 2019 में शुरू हुई। रेल मंत्रालय ने सभी महाप्रबंधक को और आर आई बी के चेयरमैन को पत्र लिखकर रक्त पदों की जानकारी मांगी थी । बाद में वेटिंग में रखें परीक्षार्थियों को दूसरे आरआरबी में समायोजित कर दिया था जहां पर पद रिक्त थे। टेक्नीशियन और जेई पद पर वेटिंग में रखे परीक्षार्थियों ने भी अपनी आवाज उठाई कि उनकी वेटिंग को भी क्लीयर कर दिया, फिर चाहे दूसरे आरआरबी में ही नियुक्ति मिल जाए।
डिवीजनल रेलवे यूजेस कंसलटेटिव कमेटी के सदस्य दीपक भारद्वाज ने रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव को इस संबंध में लेटर भेजा है। इस में कहा कि जेई पदों के अभ्यर्थियों की वेटिंग लिस्ट अभी तक क्लीयर नहीं हो पाई है। मेडिकल फिटनेस सहित अन्य सारी औपचारिकताएं पूरी कर चुके हैं। इन्होंने इस संबंध में रेल मंत्री से आग्रह किया है कि जो पदों पर तैनाती का इंतजार कर रहे अभ्यर्थियों की वेटिंग लिस्ट जल्द से जल्द क्लियर की जाए।