Yuva Haryana
राम रहीम की 30 दिन की पैरोल हुई खत्म, कड़ी सुरक्षा के साथ फिर गए सुनारिया जेल वापस
 
साध्वी यौन शोषण समेत हत्या के मामले में सुनारिया जेल में सजा काट रहे डेरा प्रमुख गुरमीत के पैरोल की अवधि रविवार शाम खत्म हो गई। पिछले महीने 17 जून को डेरा प्रमुख को 30 दिन की रूटीन पैरोल पर रिहा किया गया था। हालांकि डेरा प्रमुख की तरफ से 40 दिन की पैरोल के लिए आवेदन किया गया था, लेकिन 30 दिन की पैरोल को मंजूरी दी गई थी।तभी से डेरा प्रमुख उत्तर प्रदेश के बागपत से बरनावा डेरे में है। इस दौरान डेरा प्रमुख ने कई बार लाइव आकर अनुयायियों को संदेश भी दिए पैरोल की अवधि खत्म होने के बाद देर शाम तक डेरा प्रमुख को सुनारिया जेल में नहीं लाया गया था। 
पुलिस अधिकारियों की मानें तो जेल नियमों के अनुसार ट्रैवलिंग का अतिरिक्त समय मिलता है, इसलिए डेरा प्रमुख को सोमवार सुनारिया जेल में लाने की तैयारी है। जेल प्रशासन ने जेल के अंदर गुरमीत की सुरक्षा को लेकर कड़े बंदोबस्त के निर्देश दिए हैं। जेल में बंद दूसरे कैदियों को गुरमीत की बैरक से अलग रखने के निर्देश भी जारी किए हुए हैं। अगस्त 2017 में पंचकूला की सीबीआई कोर्ट ने दुष्कर्म के मामले में डेरा प्रमुख गुरमीत को 20 साल की सजा सुनाई थी। इसके बाद 2020 में डेरा प्रबंधक रंजीत सिंह की हत्या की साजिश रचने के लिए डेरा प्रमुख समेत चार लोगों को दोषी ठहराया गया था। वही पत्रकार की हत्या के मामले में भी डेरा प्रमुख को दोषी ठहराया गया था। तभी से डेरा प्रमुख को सुनारिया जेल में कड़े सुरक्षा बंदोबस्त के बीच रखा गया है। 
12 मई 2021 गुरमीत को स्वास्थ्य में दिक्कत चलते पीजीआई में उपचार के लिए लाया गया था। 17 मई 2021 को गुरमीत को मां से मिलने के लिए 1 दिन के लिए पैरोल देकर गुरुग्राम के लिए ले जाया गया था। 3 जून 2021 को गुरमीत को उपचार के लिए पीजीआई लाया गया। फिर 8 जून 2021 को गुरमीत को उपचार के लिए गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में ले जाया गया था। 9 अगस्त 2021 को गुरमीत को उपचार के लिए दिल्ली के एक अस्पताल में ले जाया गया 7 फरवरी 2021 को गुरमीत राम रहीम को 21 दिन की पैरोल मिली।