Yuva Haryana
6 जिलों में चलाया जाएगा 18 सितम्बर को पोलियो अभियान,बीमारी होगी जड़ से खत्म
 
अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग श्रीमती जी अनुपमा ने कहा कि राज्य के कैथल, फरीदाबाद, गुरूग्राम, झज्जर, मेवात एवं सोनीपत सहित 6 जिलों में सब नेशनल पोलियो अभियान के तहत  18 सितम्बर को लगभग 13 लाख 43 हजार से अधिक बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई जाएगी। इसके लिए व्यापक स्तर पर तैयारियां की जा चुकी हैं।

अतिरिक्त मुख्य सचिव आज यहां आयोजित राज्य स्तरीय टास्क फोर्स कमेटी की अध्यक्षता कर रही थी। बैठक में कैथल, फरीदाबाद, गुरूग्राम, झज्जर, मेवात एवं सोनीपत के सिविल सर्जन भी वीसी के माध्यम से जुडे़।

अतिरिक्त मुख्य सचिव ने संबंधित सिविल सर्जन को जिलों में पोलियो बूथ टीमों के बढाने के निर्देश दिए ताकि लक्ष्य को आसानी से प्राप्त किया जा सके। उन्होंने कहा कि कोई भी बच्चा पोलियो खुराक से वंचित न रहे। इसके लिए हमें पूर्ण रूप से सतर्क रहना है और स्लम बस्तियों, ईंट भट्ठों, पोल्ट्री फार्म, स्टोन क्रेशर, निर्माण स्थल के साथ-साथ ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में गरीब परिवारों तक पहुंचना सुनिश्चित किया जाए।

अतिरिक्त मुख्य सचिव ने कहा कि सभी उपायुक्तों के साथ जिला टास्क फोर्स कमेटी की बैठक आयोजित कर मोबाईल एवं ट्रांजिट टीमें भी बढाई जाए। इसके अलावा व्यापक स्तर पर आईईसी गतिविधियों को बढावा दिया जाए। उन्होंने कहा कि बस स्टेण्ड, रेलवे स्टेशनों पर भी पोलियो बूथ बनाए जाएं ताकि उस दिन आवागमन करने वाले बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई जा सके। लगातार तीन दिन तक चलने वाले सब नेशनल पोलिया अभियान के तहत आंगनबाडी केन्द्रों पर विशेष फोकस रखा जाए।  इस दिन 18 सितम्बर रविवार को आंगनबाडी केन्द्र खुले रहेंगे और उनमें बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई जाएगी। इसके अलावा 19 व 20 सितम्बर को विभाग की टीमें घर घर जाकर पोलियो की खुराक पिलाएंगी।

उन्होंने कहा कि पोलियो अभियान के तहत कोविड-19 नियमों का पूर्ण रूप से पालन किया जाएगा।  भारत 2011 में पोलियो मुक्त देश बन गया था लेकिन विदेशों से आने जाने वालों के कारण पोलियो अभियान चलाया जा रहा है ताकि कोई भी केस न आ पाए। इस अभियान में विभागों के अलावा सामाजिक एवं धार्मिक संस्थाओं, इंडियन मेडिकल एसोसियशन एवं समुदायों का भी भरपूर सहयोग लिया जाएगा।

बैठक में प्रबंध निदेशक नैशनल हेल्थ मिशन श्री प्रभजोत सिंह, महानिदेशक स्वास्थ्य विभाग डा. वीना सिंह सहित राज्य स्तरीय टास्क फोर्स के पदाधिकारी उपस्थित रहे।