Yuva Haryana
अब सरकारी विभाग को भी भरना होगा पानी का बिल,अगर नहीं भरा तो कटेगा कनेक्शन
 

पानी का बिल भरना अनिवार्य है बिना पानी के बिल भरे आपको पानी नहीं मिल पाता। लोगों के पानी के कनेक्शन कट जाते हैं।जिससे लोगों को पानी की किल्लत का सामना करना पड़ता है।ऐसे में प्राइवेट लोगों के साथ-साथ सरकारी लोगों को भी भेजने का पानी का बिल भरना पड़ रहा है जो कि भरना मुश्किल हो रहा है।सरकारी कार्यालयों को कई बार चेतावनी मिल चुकी है लेकिन उसके बावजूद भी यह विभाग पानी का बिल नहीं भर पा रहा है।
हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण एक एक्शन लेता हुआ नजर आ रहा है

जिसमें जो भी सरकारी विभाग पानी का बिल नहीं भर पाएगा उसका कनेक्शन काट दिया जाएगा। पानी डिफॉल्टर से प्राधिकरण को लगभग डेढ़ करोड़ की वसूली करनी है। प्राधिकरण ने कई लोगों के पानी के कनेक्शन भी काट दिया है। जिसके चलते अब बिल वसूल भी होने लगे हैं।प्राधिकरण के एक्सईएन एनके पायल ने कहा कि पानी का बिल वसूलने के लिए विशेष अभियान चल रहा है।


शहर में कई वर्षों से ऐसे घरेलू कनेक्शन ऑन संस्थान है जिन्होंने पानी का बिल नहीं भरा है जिससे काफी नुकसान झेलना पड़ रहा है अगर पूरे शहर की बात करें तो प्राधिकरण को करोड़ों रुपए की वसूली शहर के लोगो से करनी है। प्राधिकरण की ओर से कई बार इन डिफॉल्टर उपभोक्ताओं को बिल जमा कराने के लिए नोटिस भी जा चुके हैं लेकिन अभी तक इनको कोई भी सुनवाई नहीं हो पाई है नोटिस में बताया गया था कि अगर नहीं बिल भरा गया तो कनेक्शन काट दिए जाएंगे मगर उन्होंने इस नोटिस को गंभीरता से न लेते हुए बिल नहीं भरा।


उन्होंने बताया कि इसे लेकर अबतक विभाग ने 135 कामर्शियल डिफाल्टर उपभोक्ताओं के कनेक्शन काटे हैं। शहर में कई उपभोक्ता ऐसे हैं जो लंबे समय से पानी का उपभोग तो कर रहे हैं, लेकिन बिल जमा नहीं करवाते हैं। ऐसे उपभोक्ताओं के खिलाफ कार्रवाई के लिए प्राधिकरण ने विशेष अभियान चलाया है। ये सभी कामर्शियल उपभोक्ता थे।