Yuva Haryana
नवनिर्वाचित निकाय चेयरमैनों ने डिप्टी सीएम का जताया आभार, डिप्टी सीएम ने शहरों का विकास तेज़ी से करने को कहा
 
बुधवार को चंडीगढ़ स्थित उपमुख्यमंत्री आवास पर कई नवनिर्वाचित निकाय चेयरमैनों ने डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला से मुलाकात की और उनका आभार व्यक्त किया। दुष्यंत चौटाला ने चेयरमैनों और बीजेपी-जेजेपी दोनों संगठन के कार्यकर्ताओं को नगर निकाय चुनाव में रिकॉर्ड जीत के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं की मेहनत का नतीजा है कि गठबंधन की बड़ी जीत हुई। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि क्षेत्र के विकास के लिए निर्दलीय चेयरमैन भी गठबंधन सरकार के साथ आ रहे है। डिप्टी सीएम से नूंह नगरपरिषद से चेयरमैन संजय मनोचा, नारनौल नगरपरिषद चेयरपर्सन कमलेश सैणी, चीका नगरपालिका से चेयरपर्सन रेखा रानी व शाहाबाद नगरपालिका से चेयरमैन गुलशन क्वात्रा ने मुलाकात की। इस अवसर पर जेजेपी प्रदेशाध्यक्ष सरदार निशान सिंह, वरिष्ठ नेता डॉ. केसी बांगड़, विधायक ईश्वर सिंह, विधायक रामकरण काला, विधायक नैना चौटाला सहित कई नवनिर्वाचित पार्षद व अन्य वरिष्ठ नेता एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे। 
    
पत्रकारों से रूबरू होते हुए उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि नगर निकाय चुनाव में बड़ी संख्या में गठबंधन के उम्मीदवार जीते हैं और इनके अलावा निर्दलीय चेयरमैन भी गठबंधन के साथ मिलकर सरकार को मजबूती देंगे। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इन चुनावों में गठबंधन की जीत को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह समेत कई केंद्रीय वरिष्ठ नेताओं ने रिकॉर्ड जीत माना है क्योंकि सीधे चेयरमैनी के लिए अभी तक किसी राज्य में इतना बड़ा चुनाव एक साथ नहीं हुआ है इसलिए यह अपने आप में एक बड़ी जीत है। 
 
कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हरियाणा से निरंतर कांग्रेस का सफाया हो रहा है और जनता कांग्रेस को नकार रही है। उन्होंने कहा कि पहले राज्यसभा चुनाव, अब नगर निकाय चुनाव और आगे आगामी चुनावों में भी कांग्रेस को हरियाणा से साफ करने का काम किया जाएगा। डिप्टी सीएम ने कहा कि निकाय चुनाव में कांग्रेसी विधायकों और उनके वरिष्ठ नेताओं ने अपने क्षेत्र में पूरा जोर लगाया था लेकिन जनता ने उन्हें नकारा। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के गढ़ महम, झज्जर बहादुरगढ़, गोहाना, राई, गन्नौर में हुड्डा समर्थकों की हार हुई। इसी तरह कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने नरवाना और कैथल में पूरा जोर लगाया था लेकिन उनके समर्थित उम्मीदवार हारे। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि नगर निकाय चुनाव में जिन 8 सीटों पर जेजेपी ने उम्मीदवार उतारे थे, वहां पार्टी का वोट शेयर बढ़ा है। उन्होंने कहा कि आठ चुनावी शहरी क्षेत्रों में जेजेपी का विधानसभा चुनाव-2019 के 18 प्रतिशत के मुकाबले 25 प्रतिशत तक वोट प्रतिशत पहुंचा है।