Yuva Haryana
चंडीगढ़ ट्रैफिक पुलिस के एसआई की नई पहल, नियमों की धज्जी उड़ाने वाले लोगों को दी चेतावनी
 
हमारे देश में ज्यादातर लोग ट्रैफिक नियमों की धज्जियां उड़ाते हैं, जिसके चलते सरकार नए नए कानून बनाती है और मैंने तरीके से लोगों को समझाने की कोशिश करती है।
इसी कड़ी में अब चंडीगढ़ की पुलिस ने एक नई पहल की है
जी हाँ, आपको बता दे की चंडीगढ़ ट्रैफिक पुलिस के सब इंस्पेक्टर भूपिंदर सिंह ने एक बार फिर लोगों को चेताया है। उनका एक और नया गाना सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है, जिसमें वह वाहन चालकों को यातायात नियमों का पालन करने की हिदायत दे रहे हैं। एसआइ भूपिंदर सिंह ने अपने नए गाने के जरिए खास कर शराबी वाहन चालकों को चेतावनी दी है।
भूपिंदर सिंह के नए गाने का शीर्षक ' दारू पीके गड्डी न चलाईं ओए राती नाके लगदे' है। भूपिंदर सिंह ने अपने इस नए गाने से शराब के नशे में ड्राइविंग करने वाले वाहन चालकों को आगाह करने के साथ यह भी बताया है कि चंडीगढ़ पुलिस रात में नाके लगाकर ऐसे वाहन चालकों के खिलाफ कार्रवाई करती है। वहीं गाने में उन्होंने यह भी बताया है कि चंडीगढ़ में वीकेंड यानी शुक्रवार और शनिवार रात को पूरे शहर में पुलिस स्पेशल नाकाबंदी कर शराबी वाहन चालकों के मोटे चालान काटती है।
इसके अलावा आपको यह भी बता दे की यह गाना 3 मिनट 38 सेकेंड का है। गाने के शुरुआती बोल... मेरी गल सुन हाणियां, तैनू गल्ल समझाणियां, चंडीगढ़ पीके ना आईं ओए राती नाके लगदे। पीके गड्डी न चलाईं ओए, राती नाके लगदे। बता दें कि चंडीगढ़ ट्रैफिक पुलिस के एसआइ भूपिंदर सिंह अपने गानों से लोगों को यातायात नियमों का पाठ पढ़ाते हैं। वह खुद ही गीत लिखते हैं और उन्हें गाकर चंडीगढ़ पुलिस और ट्रैफिक नियमों के बारे में लोगों को समझाने के प्रयास करते हैं। इस गाने को भी उन्होंने खुद ही लिखा है और गाया भी रहे है। भूपिंदर सिंह का यह गाना यू-ट्यूब पर हजारों लोगों ने देखा है और इसे पसंद भी कर रहे हैं।
 इसके अलावा अगर हम भूपेंद्र सिंह की बात करें तो वे मूलरूप से पंजाब के गुरदासपुर के रहने वाले भूपिंदर सिंह ने साल 1987 में चंडीगढ़ पुलिस ज्वाइन की थी। स्कूल के समय से गाने लिखने, कंपोज करने और खुद गाने के शौकीन भूपिंदर पुलिस विभाग में भी अपने गाने से ट्रैफिक नियमों के प्रति लोगों को जागरूक करने की एक अलग अंदाज में मुहिम छेड़ रखी है। इसके लिए उन्हें डीजीपी, एसएसपी सहित प्रशासनिक अधिकारियों से सम्मान मिल चुके हैं।
लेकिन फिर भी देखना होगा कि इस गाने का ट्रैफिक नियमों की धज्जी उड़ाने वाले लोगों पर कितना असर पड़ता है या नहीं ।