Yuva Haryana
संसद में असंसदीय शब्दों का नया संकलन, लोकसभा सचिवालय ने किया जारी..
 

संसद में जुमलाजीवी, बालबुद्धि, जयचंद, कोविड स्प्रेडर और स्नूपगेट जैसे शब्दों का इस्तेमाल नहीं किया जायेगा। लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही के दौरान दोनों संसद के सदस्य अब चर्चा में हिस्सा लेते हुए इन शब्दो का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। यही नहीं लोकसभा सचिवालय द्वारा जारी एक नए संकलन के मुताबिक अब अब्यूस्ड, ब्रिटेड, करप्ट, ड्रामा, हिपोक्रसी और इनकंपीटेंट जैसे शब्दों को भी असंसदीय माना जाएगा। यह संकलन 18 जुलाई से शुरू हो रहे मानसून सत्र से पहले आया है।


साथ ही मानसून सत्र की इस चर्चा के दौरान या किसी अन्य तरीके से एनर्कस्ट, शकुनी, डिक्टोरियल, तानाशाह, तानाशाही, विनाश पुरुष, खालिस्तानी और खून से खेती जैसे शब्द इस्तेमाल किए गए तो उन्हें भी रिकार्ड से हटा दिया जाएगा। लोकसभा सचिवालय ने दोहरा चरित्र, निकम्मा, नौटंकी, ढिंढोरा पीटना और बहरी सरकार को भी असंसदीय शब्दों की सूची में शामिल किया है। मालूम हो कि संसद के सदस्य कई बार सदन में ऐसे शब्दों, वाक्यों या अभिव्यक्ति का इस्तेमाल कर जाते हैं जिन्हें बाद में सभापति या स्पीकर के आदेश से रिकार्ड या कार्यवाही से बाहर निकाल दिया जाता है।


लोकसभा सचिवालय ने 'असंसदीय शब्द' शीर्षक के तहत दोनों सदनों, राज्य विधानसभाओं और 2020 में राष्ट्रमंडल देशों की संसद में असंसदीय घोषित ऐसे ही शब्दों एवं वाक्यों का नया संकलन तैयार किया है। हालांकि शब्दों को कार्यवाही से हटाने का अंतिम अधिकार राज्यसभा के सभापति और लोकसभा के स्पीकर को ही होगा। अध्यक्षीय पीठ पर आक्षेप को लेकर भी कई वाक्यों को असंसदीय अभिव्यक्ति की श्रेणी में रखा गया है। आप मेरा समय खराब कर रहे हैं, आप हम लोगों का गला घोंट दीजिए, चेयर को कमजोर कर दिया है और यह चेयर अपने सदस्यों का संरक्षण नहीं कर पा रही है, आदि इसमें शामिल हैं।सूची में कहा गया है कि कुछ शब्द तब तक असंसदीय नहीं लग सकते हैं जब तक कि उन्हें संसदीय कार्यवाही के दौरान बोले गए अन्य शब्दों के साथ जोड़कर न पढ़ा जाए।


ब्लडशेड, ब्लडी, अशेम्ड, चीटेड, चमचा, चमचागीरी, चेला, चाइल्डिशनेस, कावर्ड, क्रिमिनल, क्रोकोडाइल टीयर्स, डिस्ग्रेस, डंकी, आइवाश, फज, हूलीगानिज्म, मिसलेड, लाई, अनट्रू, गद्दार, गिरगिट, गून्स, घड़ियाली आंसू, अपमान, असत्य, अहंकार, काला दिन, काला बाजारी, खरीद-फरोख्त, दंगा, दलाल, दादागीरी, बेचारा, बाबकट, लालीपाप, विश्वासघात, संवेदनहीन, फुलिश, पिट्ठू, सेक्सुअल हरेसमेंट, माफिया, रबिश, स्नेक चार्मर, टाउट, ट्रेटर।