Yuva Haryana
भारी बारिश के कारण मौसम विभाग ने दी चेतावनी, नदी किनारो से रहे दूर
 

मानसून के दोबारा सक्रिय होने से बुधवार को हरियाणा के कई जिलों में झमाझम बारिश हुई। बारिश होने के साथ ही लोगों को उमस भरी गर्मी से राहत मिली। वहीं नहर और नदियों किनारे बसे लोगों की टेंशन बढ़ गई। मौसम विभाग ने आने वाले दिनों में बारिश को लेकर अलर्ट जारी कर दिया है। लोगों को नहरों, नदियों से दूर रहने को कहा है। आगामी दिनों में दो से तीन दिन तक लगातार बारिश के आसार है। ऐसे में नदी और नहरों का जलस्तर बढ़ सकता है।जींद, सफीदों तथा जुलाना में बारिश हुई। बारिश से जहां गर्मी से राहत मिली, वहीं धान की फसल मेें फायदा होगा। जिन किसानों ने अब तक धान की रोपाई नहीं की है, वे रोपाई कर सकेंगे। बरसात से शहर में सड़कों तथा गलियों में पानी भर गया। जिसके चलते लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। शहर में जहां अमृत योजना के तहत बरसाती पानी निकासी के लिए पाइप लाइन डाली हुई है, वहां बरसात के दो घंटे बाद निकासी हो गई। पटियाला चौक, नरवाना रोड व अन्य जगहों पर निकासी नहीं होने से दिक्कत बढ़ी।

अनाज मंडी रोड पर कुछ माह पहले अमृत योजना के तहत पाइप लाइन दबाई गई है, यहां दोपहर को बारिश के दौरान एक ट्रक फंस गया। वहीं जिन स्थानों पर सड़क निर्माण चला हुआ है, वहां दिक्कत हुई। बरसात से तापमान में भी चार डिग्री तक की गिरावट दर्ज की गई। बुधवार को अधिकतम तापमान 31 डिग्री व न्यूनतम तापमान 26 डिग्री दर्ज किया गया। मौसम में आर्द्रता 86 प्रतिशत व हवा की गति छह किलोमीटर प्रति घंटा दर्ज की गई।

बुधवार को जींद में 25 एमएम, जुलाना में 15 एमएम, सफीदों में 10 एमएम बारिश हुई। जबकि बाकी स्थानों पर बूंदाबांदी हुई। मौसम विभाग के अनुसार अगले 24 घंटों के दौरान आकाश में बादल छाए रहने के साथ मध्यम से तेज बारिश होने की संभावना है।

इन जगहों पर हुआ जलभराव

बरसात के दौरान शहर की सड़कें तथा गलियां बरसाती नालों में तब्दील हो गई। जिसके कारण लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। पटियाला चौक से लेकर रानी तालाब, पुरानी अनाज मंडी रोड तथा भिवानी रोड जलभराव होने पर लोगों ने प्रशासन पर सवाल उठाए। अनाज मंडी रोड पर जहां पुरानी एक्सचेंज के पास ट्रक फंस गया। वहीं निर्माणाधीन भिवानी रोड लोगों का पैदल निकलना भी मुश्किल हो गया। पटियाला चौक, पुराना बिजली घर, कृषि विभाग कार्यालय के सामने, बत्तख चौक, सफीदों गेट, एसडी स्कूल, रानी तालाब से शहर थाना की तरफ, पुरानी अनाज मंडी रोड पर दो से ढाई फुट तक बरसाती पानी भर गया।

पांडू पिंडारा कृषि विज्ञान केंद्र के मौसम वैज्ञानिक डा. राजेश ने बताया कि मानसून की सक्रियता के चलते 21 व 22 जुलाई को अच्छी बारिश होने की संभावना है। उन्होंने किसानों को फिलहाल सिंचाई तथा स्प्रे रोक देने की सलाह दी है। बीमारी के लक्षण दिखाई देने पर कृषि विशेषज्ञों से संपर्क करने की हिदायत दी।