Yuva Haryana
जानिए कब मिलेगी इस चिलचिलाती गर्मी से लोगों को राहत, पारा पहुंचा 45 डिग्री के पार
 
हरियाणा राज्य में अगले 2 दिनों में मौसम आमतौर पर खुशक व गर्म रहने तथा दिन के तापमान में हल्की बढ़ोतरी की संभावना है। इस दौरान बीच-बीच में शाम के समय हल्के बादल वह कहीं-कहीं धूल भरी गर्म हवाएं चलने की भी संभावनाएं बने हुए हैं। परंतु हवाओं में बदलाव पश्चिमी से पूर्वी नमी वाली हवाओं होने से मौसम में 16 जून से बदलाव आने से प्री मानसून बारिश की गतिविधियां शुरू होने की पूरी संभावना है। जिससे राज्य के ज्यादातर क्षेत्रों में 16 जून देर रात्रि से 20 जून के दौरान बीच-बीच में हवाएं व गरज चमक के साथ हल्की से मध्यम बारिश की संभावनाएं हैं। 
तेज धूप और गर्मी ने हदें पार कर दी हैं। अधिकतम तापमान 45 डिग्री पार हो चुका है। ऐसे में हीटस्ट्रोक यानी लू लगने का खतरा बढ़ गया है। बढ़ती गर्मी के कारण रहन-सहन और खान-पान में बदलाव करना जरूरी हो गया है। गर्मी के मौसम में दोपहर 12:00 से 3:00 तक घर से बाहर ना निकले। गर्मी की वजह से ज्यादा प्यास लगने के साथ ही भूख कम लग रही है। इसके अलावा मुंह सूखने और हल्की बुखार के साथ आंखों में जलन और सिर दर्द की शिकायतें आम हो गई हैं। इसके बचाव के लिए सिर पर गमछा , छाता का उपयोग करें। धूप के कारण आंखों में जलन से बचने के लिए चश्मे लगाए। शरीर में पानी की मात्रा को बनाए रखने के लिए शुद्ध पानी पिए। 
हमारे शरीर के अंदर का तापमान 37 डिग्री सेल्सियस होता है और शरीर का तापमान जब 104 फेरानॉइड से अधिक होता है। तो इसे हीट स्ट्रोक का लक्षण माना जाता है। स्ट्रोक आमतौर पर तब होता है। जब शरीर में पानी और नमक की मात्रा कम हो जाती है और पसीना आना भी बंद हो जाता है हीट स्ट्रोक के कारण कभी-कभी इंसान कोमा में भी चला जाता है। 
हीट स्ट्रोक के लक्षण है : चक्कर आना, सिर घूमना, गर्मी के बावजूद पसीना न आना, शरीर की त्वचा लाल और गर्म होना। मांसपेशियों में कमजोरी आना, धड़कन का तेज होना और उल्टी आना सांस लेने में तकलीफ होना घबराहट और बेचैनी। 
इसके उपाय हैं कि: गर्मी के मौसम में दोपहर 12:00 से 3:00 तक घर से बाहर ना निकले। ज्यादा से ज्यादा पानी पीना और बाहर का खाना ना खाएं, घर से बाहर जाना पड़े तो धूप से बचने के लिए छतरी का इस्तेमाल करें।