Yuva Haryana
युवा जोश के साथ राजस्थान की राजनीति में जेजेपी ने की एंट्री
 

देश की 9वीं लोकसभा में राजस्थान की सीकर सीट से सांसद बनकर देश के उपप्रधानमंत्री बने किसान-कमेरे वर्ग के मसीहा कहे जाने वाले चौ. देवीलाल के पड़पौत्र हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला अब राजस्थान की राजनीति में भी एंट्री कर चुके है। दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी ने अपने छात्र संगठन इनसो के जरिए राजस्थान की जमीं पर मजबूती से पैर रखे है। दुष्यंत चौटाला के छोटे भाई दिग्विजय सिंह चौटाला की देखरेख में राजस्थान की राजधानी जयपुर में इनसो ने अपने 20वें स्थापना दिवस पर ‘रणघोष’ किया।

कार्यक्रम में युवाओं का जोश देखने लायक था और जयपुर में दुष्यंत-दिग्विजय चौटाला का युवाओं ने जोरदार स्वागत किया। कार्यक्रम में बी-प्राक, फाजिलपुरिया, अल्फाज जैसे कई जाने-माने कलाकारों ने प्रस्तुति पेश की। कार्यक्रम की शुरूआत में डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला, दिग्विजय चौटाला सहित सभी वरिष्ठ नेताओं ने जननायक चौधरी देवीलाल की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया।

Dushyant chotala

 
*कलाकारों ने बांधा समां*
पिंक सिटी जयपुर के लिए वीकेंड और ही मजेदार बन गया जब कई जाने-माने कलाकार राजस्थान की राजधानी में पहुंचे। यह मौका था इनसो के 20वें स्थापना दिवस पर यहां टैगोर ऑडिटोरियम में आयोजित रणघोष कार्यक्रम का। बी-प्राक, फाजिलपुरिया, अल्फाज, राहुल फाजिलपुरिया सहित कई बड़े कलाकारों ने अपनी प्रस्तुति दी, जिस पर युवा जमकर झूमे। बी-प्राम ने तेरी मिट्टी में मिल जावा गाना गाकर युवाओं में देशभक्ति की भावना को और बढाया।
 
*युवाओं में दुष्यंत के साथ सेल्फी का दिखा क्रेज*
जयपुर इनसो कार्यक्रम के दौरान हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला का युवाओं के बीच काफी क्रेज देखने को मिला। युवाओं में दुष्यंत से मिलने व उनसे हाथ मिलाने की होड़ लगी रही और अधिकतर युवा उनके साथ सेल्फी लेने को आतुर दिखाई दिए। उपमुख्यमंत्री ने भी युवाओं की इच्छा के अनुरूप उनके साथ सेल्फी खिंचवाई।
 
*छात्राओं ने दुष्यंत चौटाला को बांधी राखी*
इनसो के रणघोष कार्यक्रम के दौरान राजस्थान की छात्राओं ने हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को राखी बांधी और रक्षा बंधन का पर्व मनाया। 
 
*दुष्यंत-दिग्विजय के पड़दादा व पिता की कर्मभूमि हैं राजस्थान*
दुष्यंत चौटाला और दिग्विजय चौटाला के पड़दादा चौधरी देवीलाल राजस्थान की सीकर लोकसभा सीट से सांसद बनकर ही देश के उपप्रधानमंत्री बने थे तो वहीं उनके पिता अजय चौटाला की राजनीति की शुरुआत भी राजस्थान विधानसभा से ही हुई थी। जेजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अजय चौटाला दातारामगढ़ और नोहर विधानसभा सीट से जनता पार्टी के विधायक रह चुके हैं। दातारामगढ़ में जनता पार्टी की टिकट से साल 1989 में पहली बार विधायक बने थे। इसके बाद विधानसभा चुनाव में अगले 5 साल के लिए नोहर विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए थे। ऐसे में दुष्यंत चौटाला और दिग्विजय चौटाला युवाओं और छात्रों में अच्छी पैठ के सहारे राजस्थान के रण को भेदने में कामयाब नजर आ रहे हैं ।