Yuva Haryana
छात्र का परिवार पहचान पत्र पोर्टल पर अपलोड नहीं तो सभी स्कीमों से हो जाएंगे वंचित
 

प्रदेश सरकार ने स्कूलों के शैक्षणिक सत्र 2022-23 को लेकर यह निर्देश जारी कर दिए हैं कि सभी बच्चों का परिवार पहचान पत्र एमआईएस पोर्टल पर अपलोड होना जरूरी है.  जिस छात्र ने ऐसा नहीं किया वह सरकार की ओर से दी जाने वाली सभी स्कीमों से वंचित रह जाएगा. बच्चों को मिलने वाली प्रोत्साहन राशि भी बच्चे की आईडी के खाते में जमा होगी. 

पत्र में कहा किया गया है कि सरकार के निर्देशानुसार प्रवेश सत्र वर्ष 2022-23 में विद्यालयों में दाखिले के समय परिवार पहचान पत्र आईडी को एमआईएस पोर्टल पर अपलोड करना जरूरी है.  यदि किसी छात्र का परिवार पहचान पत्र आईडी का डाटा पोर्टल पर नहीं भरा होगा तो उसे किसी भी विभागीय स्कीम के तहत छात्रवृत्ति या प्रोत्साहन राशि का लाभ नहीं दिया जाएगा. 

पात्र विद्यार्थियों का एमआईएस पोर्टल पर डाटा भरते समय परिवार पहचान पत्र का कॉलम भी भरना जरूरी होगा इसलिए सभी छात्र और उनके अभिभावक जल्द डाटा अपलोट करा लें. करनाल जिले के 778 राजकीय स्कूलों में पहली से 12वीं कक्षा तक डेढ़ लाख विद्यार्थी पढ़ाई कर रहे हैं।

जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी रोहताश वर्मा ने बताया कि मौलिक शिक्षा निदेशक का पत्र मिला है. उसके अनुसार दाखिले पत्र का डाटा अपलोड करना जरूरी है.  इस संदर्भ में सभी खंड शिक्षा अधिकारियों व स्कूलों को अवगत कराया जा रहा है.