Yuva Haryana
आईपीएस हेमंत कलसन को पंचकूला पुलिस ने किया गिरफ्तार, विवादों से गहरा नाता
 

एक बार फिर से आईपीएस अधिकारी हेमंत कलसन ने कारनाम कर दिया है। हेमंत कलसन को पंचकुला पुलिस ने गिरफ्तार किया है । हेमंत कलसन  की गिरफ्तारी पिंजौर के एक निवासी की शिकायत पर की गई है। जिसकी  दुकान में घुसकर हेमंत कलसन  ने मारपीट की और हंगामा किया।  आपको बता दें इससे पहले भी हेमंत कलसन  हंगामे कर चुके हैं।  जिसकी वजह से उन्हें हवालात की हवा भी खानी पड़ी है.  और उनके खिलाफ मामले भी दर्ज किए गए हैं।

बता दें कि पिंजौर पुलिस को शिकायत में रथपुर कॉलोनी निवासी तलविंदर सिंह ने बताया कि वह 75 प्रतिशत  विकलांग है वह और उसके पिता अपना  कारोबार पानी के टैंकर व करियाणा करते हैं। वह बतौर केयर टेकर का काम करते है। असल मालिक स्व.जीत सिंह पूर्व सरपंच थे और वो नगर पालिका के प्रथम प्रधान भी रहे है ।


12 मई रात 8:00 बजे एक व्यक्ति उनके पास आया उसने खुद को आईजी होमगार्ड हेमंत कलसन कहा, वो अपनी गाड़ी में एक लड़की और  चालक के साथ आया था।   तलविंदर सिंह ने कहा कि वह हेमंत को नहीं जानते थे हेमंत कलसन  शराब के नशे में थे।  उन्होंने दुकान में घुसकर तलविंदर सिंह के साथ दुर्व्यवहार किया, गाली गलौज व मारपीट की दुकान में तोड़फोड़ भी की गई।  इसकी वीडियो भी है। 

 तलविंदर सिंह विकलांग होने के कारण लड़ने में असमर्थ था। तलविंदर ने अपने बचाव के लिए पूर्व पार्षद सतविंदर सिंह टोनी  को फोन किया सतविंदर सिंह टोनी  ने संबंधित थाना प्रभारी को फोन करके मामले की जानकारी दी।  इसके बाद पता चला कि थाने में SHO की  कुर्सी पर  हेमंत कलसन बैठा हुआ था। हेमंत कल की गाड़ी थाने में खड़ी थी. इस पर लोगों ने विरोध किया था

थाना प्रभारी  ने कहा की वो उस लड़की  और आईजी का मेडिकल कराने के लिए जा रहे हैं। पुलिस ने हेमंत के  खिलाफ केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है। 

हेमंत ने हाल ही में सेक्टर 6 पंचकूला स्थित सिविल अस्पताल में हंगामा किया था।  वह पर स्टाफ  नर्स और  स्टाफ के साथ दुर्व्यवहार करने के आरोप थे. और स्टाफ के  मुताबिक वे नशे में थे। पंचकूला पुलिस ने मामले पर कार्यवाही की है ,इससे पहले भी इसी प्रकार के आरोपों में फंस चुके हैं अपने व्यवहार के चलते कई बार निलंबित भी हो चुके हैं।