Yuva Haryana
गर्मी ने तोड़े सारे रिकॉर्ड: पारा पहुंचा 47.8, सड़क पर लगा तारकोल भी पिघलने लगा
 

शनिवार का दिन प्रचंड गर्मी और लू का रहा. गर्मी का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि सड़क पर लगा तारकोल भी पिघल गया. दोपहर को लोग घरों में ही दुबके रहे. इस तरह के तापमान में बाहर निकलते ही सबसे अधिक खतरा हीट स्ट्रोक का होता है. मात्र पांच मिनट में शरीर का तापमान 104 से ऊपर पहुंच जाता है. 

मौसम विभाग द्वारा कुछ जिलों के लिए 15 और 16 मैं को लू का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. गर्मी से राहत की कोई उम्मीद नहीं दिख रही है. शनिवार को अधिकतर जिलों में तापमान 45 से ऊपर रहा. इनमें सिरसा 47.8, हिसार 47.5, गुरुग्राम 46.8, नारनौल 46.6, जींद 46.6, झज्जर 46.5, महेंद्रगढ़ 45.9, सोनीपत 45.9, भिवानी 45.4, फतेहाबाद और अंबाला 45.4, कुरूक्षेत्र 44.1, कैथल और करनाल 43.2, यमुनानगर 43.1 और पंचकुला 42.9 डिग्री के साथ दिनभर गर्म रहा.

भारतीय मौसम विभाग के चंडीगढ़ सेंटर के निदेशक डा. मनमोहन सिंह के अनुसार प्रदेश में भीषण गर्मी के दो बड़े कारण हैं. इनमें पहला यह है कि मैदानी इलाकों में कोई मौसमी सिस्टम ज्यादा प्रभावी नहीं हो रहा. दूसरा यह कि राजस्थान के ऊपर पाकिस्तान में एंटीसाइक्लोनिक सर्कुलेशन बना हुआ है. इससे शुष्क व पश्चिमी हवाएं चल रही हैं. उधर एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी हिसार के मौसम विभाग के निदेशक डॉ. मदन खीचड़ के अनुसार 16 मई की रात से मौसम में परिवर्तन होने की उम्मीद है.