Yuva Haryana
करोड़ों की लागात से हरियाणा को मिलेगा एक और फोरलेन हाईवे , 24 गांवों की जमीन का होगा अधिग्रहण
 
जगाधरी से ताजेवाला फोरलेन नेशनल हाईवे करीब 1260 करोड़ रुपये की लागत तैयार होगा। जिस पर जल्द ही काम शुरू हो जाएगा। केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गड़करी के ट्वीट के बाद शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने इस सौगात के बारे में बताया।
उन्होंने बताया कि यमुनानगर में जगाधरी से ताजेवाला तक नए नेशनल हाईवे बनाने का काम जल्दी शुरू होगा। इसकी टेंडर प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। यह हाईवे फोरलेन होगा। कई राज्यों के लोगों को भी इस हाईवे से फायदा मिलने वाला है। इसमें से करीब 600 करोड़ रुपये किसानों को भूमि अधिग्रहण के मिलेंगे।
ये होगा लाभ
स्थानीय निवासी कपिल, पवन कुमार, मुकेश कुमार व नरेंद्र सिंह का कहना है कि हाईवे के निमार्ण से यात्रा सुगम होगी। साथ ही हादसों के ग्राम में कमी आएगी। अब इसकी चौड़ाई कम होने के कारण जाम व हादसे होते हैं। इस हाईवे से ही माइनिंग के वाहन भी निकलते हैं। जिले व प्रदेश के अलावा पावंटा साहिब, उत्तराखंड व उत्तर प्रदेश के लोगों को हाईवे के निर्माण से लाभ होगा।
जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू
कैल से होकर गांवों से गुजरने वाले फोरलेन के लिए जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू कर दी गई। इस फोरलेन के लिए अधिग्रहित होने वाले जमीनों की निशानदेही हो चुकी है। आपत्तियों का भी निस्तारण किया जा रहा है। दोनों ओर 44 फीट पर निशान लगे हैं। जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि किसान जमीन देने के लिए तैयार हैं, लेकिन कुछ आपत्तियां आ रही है। यह आपत्तियां किसी के खेत में जाने के लिए रास्ता न छूटने, तो किसी के खेत में ट्यूबवैल का पानी जाने के लिए रास्ता बंद होने को लेकर है। यह छोटी आपत्तियां है। इसके लिए मौके पर जाकर जांच कर आपत्तियां दूर की जा रही है।
24 गांवों के रकबे से होकर निकलेगा फोरलेन
कैल से होकर गांवों के रकबे से होता हुआ बहादूरपुर में फोरलेन निकलेगा। वहीं से जगाधरी पांवटा साहिब हाईवे पर मिल जाएगा। इसमें 24 गांवों से जमीन से करीब 100 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण किया जाना है। नया फोरलेन कैल से होता हुआ मेहलावाली, मामली, काठवाला, चाहडो, मुंडाखेडा, खारवन, पंजेटो, बलाचौर, सिंहपुरा, शेरपुर, उर्जनी, भिलपुरा, शाहजहांपुर, पीपली माजरा, मलकपुर खादर, छज्जूनगला, चूहडपुर कलां, चूहडपुर खुर्द, गुलाबगढ़, किशनपुरा, प्रतापनगर, बहादरपुर आदि गांवों के रकबे से होकर निकलेगा। राजस्व विभाग ने इन गांवों में जमीन की निशानदेही कर ली है।