Yuva Haryana
चुनावी मोड में हरियाणा: निकाय, राज्यसभा उपचुनाव और पंचायत चुनाव पर होगी सभी पार्टियों की नजर, मई से दिसंबर का समय है सब पार्टियों के लिए अहम
 

प्रदेश जल्द ही चुनावी मोड में आने वाला है. हरियाणा सरकार का आधा कार्यकाल समाप्त हो चुका है. अब मई से दिसंबर तक चुनावी सरगर्मियां तेज होने वाली हैं. 
दरअसल निकाय, राज्यसभा उपचुनाव और पंचायत चुनाव नजदीक आ गए हैं. 

इनमें सबसे पहले निकाय चुनाव होने हैं जिसके बाद पंचायत चुनाव होंगे. इन दोनों पर हाईकोर्ट ने स्टे लगाई हुई है. पंचायत चुनाव में प्रदेश सरकार ने महिलाओं को 50 फीसदी और ओबीसी को 8 फीसदी आरक्षण देने का प्रावधान किया है, लेकिन हाईकोर्ट में इसे चुनौती दी गई है. इसी तरह सरकार द्वारा निकाय चुनाव में प्रधान पद के लिए दोबारा ड्रा करने के निर्णय को भी हाईकोर्ट में चुनौती मिली हुई है. इसी वजह से यह दोनों चुनाव करीब डेढ़ साल लेट हो चुके हैं. 

उधर जुलाई में राज्यसभा की दो सीटों के लिए भी चुनाव होने हैं. इस चुनाव पर भाजपा, जजपा और कांग्रेस की निगाह है. वहीं पंचायत और निकाय चुनाव में इस बार आम आदमी पार्टी भी ताल ठोकने के लिए तैयार है. राज्यसभा की दो सीटों पर चुनाव होने हैं. भाजपा के राज्यसभा सदस्य दुष्यंत कुमार गौतम और भाजपा समर्थित निर्दलीय सांसद सुभाष चंद्र का कार्यालय एक अगस्त को पूरा हो रहा है.