Yuva Haryana
हरियाणा सरकार देगी महिलाओं को ड्राइविंग की फ्री ट्रेनिंग, 5 जिलों को मिला मौका
 
अब हरियाणा की महिलाओं के हाथ में भी होगा गाड़ी का स्टीयरिंग। वे भी चला सकेंगी गाड़ी।
 महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए अब सरकार उन्हें ड्राइविंग में दक्ष बनाएगी। जिसके लिए प्रदेश सरकार ने योजना लांच करते हुए पांच जिलों को पहले चरण के लिए चुना है। बेटियों को पहले चरण में ड्राइवर के लिए ट्रेनिंग बहादुरगढ़ व कैथल में दिलावाई जाएगी।
इस योजना की खास बात यह है कि यह केवल गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाली महिलाओं व लड़कियों के लिए बनाई गई है।
हरियाणा महिला विकास निगम ने पहले चरण में झज्जर, कैथल, रोहतक, जींद तथा पानीपत को शामिल किया है। चालक प्रशिक्षण व आत्मरक्षा प्रशिक्षण लेने की इच्छुक महिलाएं और लड़कियां तक आनलाइन आवेदन कर सकती है। आवेदन के लिए महिलाओं को हरियाणा महिला विकास निगम के कार्यालय से फोरम उपलब्ध होगा। आवेदन के साथ वांछित प्रमाण पत्रों की सत्यापित प्रतियों सहित ईमेल के माध्यम से भेजने होंगे। इच्छुक पात्र आवेदक द्वारा दूरभाष नंबर ईमेल एड्रेस तथा सक्षम अधिकारी द्वारा जारी प्रमाण पत्रों की सत्यापित प्रतियां संलग्न करना अनिवार्य  होगा।
गरीबी रेखा से नीचे (BPL) जीवन यापन करने वाले परिवारों से लड़कियों व महिलाओं के लिए बहादुरगढ़ तथा कैथल में 21 दिन का चालक प्रशिक्षण तथा आत्मरक्षा प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया जा रहा है। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए लड़कियों व महिलाओं के लिए पात्रता निश्चित की गई है।
आवेदन करने वाली महिला व लडक़ी की आयु 18 से 45 वर्ष के बीच और वह हरियाणा राज्य की मूल निवासी होनी चाहिए। उसकी शैक्षणिक योग्यता 12वीं पास होनी चाहिए। इसमें शैक्षणिक योग्यता को प्राथमिकता दी जाएगी। इसके अलावा आवेदक की अच्छी दृष्टि हो। वहीं वैध लर्नर लाइसेंस होना चाहिए। यह स्कीम केवल गरीबी रेखा से नीचे यानी बीपीएल परिवारों के लिए है। उन्होंने बताया कि प्रत्येक प्रशिक्षणार्थी को एक हजार रुपये वजीफा भी दिया जाएगा तथा प्रशिक्षण अवधि के दौरान निश्शुल्क खान पान तथा ठहरने की सुविधा भी प्रदान की जायेगी।