Yuva Haryana
1.80 लाख रुपए से कम की पारिवारिक आय वाले गरीब छात्रों की यूनिवर्सिटी की फीस भरेगी सरकार
 

प्रदेश सरकार अब यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले गरीब बच्चों की फीस खुद भरेगी. जिन विद्यार्थियों के परिवारों की सालाना आय 1.80 लाख रुपए से कम है उनकी फीस खुद सरकार भरेगी. इसकी घोषणा सीएम मनोहर लाल ने प्रदेश के कुलपतियों के दो दिवसीय सम्मेलन के दौरान कही. 

उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति के तहत प्रदेश की सभी यूनिवर्सिटी में केजी और पीजी तक की शिक्षा शुरू की जाए. इसके साथ उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि यूनिवर्सिटी हर साल छात्र मिलन समारोह आयोजित करे जिसमें समर्थ पूर्व छात्रों को बुलाया जाए. ये छात्र यूनिवर्सिटी को आर्थिक रूप से मजबूत करें. वहीं इन समारोह में अंग्रेजों के समय से ड्रेस कोड चलता आ रहा है जिसमें बदलाव किया जाना चाहिए. 

अपनी बात को दोहराते हुए सीएम ने कुलपतियों को संबोधित करते हुए कहा कि यूनिवर्सिटी को स्वावलंबी बनाया जाए. सरकार की ग्रांट के भरोसे रहने की बजाय आर्थिक रूप से मजबूत हों. उन्होंने कहा कि सरकार अब  सर्वे आदि के कार्य किसी निजी कंपनी या एजेंसी को देने की बजाय सीधे विश्विद्यालयों को देगी. इससे यूनिवर्सिटी की आय मजबूत होगी.