Yuva Haryana
खुशखबरी : रेल मंत्री ने दी पानीपत वासियों के लिए बड़ी सौगात, पानीपत -शामली मेरठ रेललाइन को मिली मंजूरी
 

बहुप्रतीक्षित पानीपत मेरठ रेलमार्ग के निर्माण को लेकर रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव के अपनी मंजूरी दे दी है । अब रेल मंत्रालय वित्तीय स्वकृति के लिए इसे वित्त मंत्री को भेजगा । 104 किलोमीटर के इस रेलमार्ग के लिए करीब 3540 करोड़ के बजट की जरूरत है । बीते मंगलवार को केन्द्रीय पशुपालन मत्स्य राज्यमंत्री डॉ संजीव बालियान मुजफ्फनगर लोकसभा के सामाजिक कार्यकर्ता के साथ रेल मंत्री से दिल्ली में मिले थे । 

इस दौरान पानीपत मेरठ रेलवे लाइन पर चर्चा की गई । रेल मंत्री ने आश्वाशन दिया था कि इसे जल्द ही वित्त मंत्रालय की ओर से कैबिनेट में रखा जाएगा । रेलवे इस प्रॉजेक्ट की डीपीआर तैयार कर ली। पानीपत एलम , जोला, सरधना मेरठ तक यह लाइन जायेगी । रेलवे सूत्रों के अनुसार एक हजार करोड़ से अधिक प्रॉजेक्ट होने के कारण इसकी कैबिनेट से स्वकृति के बाद आगे की कार्यवाही होगी । 


पानीपत मेरठ रेल लाइन से हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बीच की दूरी कम हो जाएगा। पानीपत से शामली, मुजफ्फरनगर मेरठ का सफर आसान हो जाएगा। पानीपत-मेरठ रेलवे लाइन का मामला वर्ष 2009 से संसद में उठता आ रहा है। दो बार इस लाइन का सर्वे भी किया जा चुका है। लेकिन अब तक रेलवे लाइन का काम जमीन पर नहीं हुआ है। अब जाकर पानीपत शामली मुजफ्फरनगर मेरठ तक का रेल लाइन प्रस्तावित की गई है। दोनों एतिहासिक शहर पानीपत मेरठ सरघना रेलवे लाइन से जुड़ जाएंगे।

पानीपत स्टेशन अधीक्षक इंद्र पाल खोशला के अनुसार अभी पानीपत मेरठ रेलवे लाइन का काम पहली स्टेज पर है। बजट में इस लाइन का प्रस्ताव आया था।
हरियाणा चैंबर आफ कामर्स के चेयरमैन विनोद खंडेलवाल का कहना है कि यह लाइन जल्द से जल्द बिछायी जानी चाहिए। इससे मेरठ और पानीपत के बीच आने जाने वाले कारोबारियों को लाभ मिलेगा। कारोबार और अधिक बढ़ेगा। पानीपत का टेक्सटाइल उद्योगों और अधिक बढ़ेगा।