Yuva Haryana
ईमानदारी की मिसाल: इस बुजुर्ग की चारो ओर हो रही है तारीफ, बैंक बाहर मिले पचास हजार वापस, वीडियो वायरल
 
कलयुगी दुनिया में भी ईमानदारी अभी भी जिंदा है। आज के समय में कुछ पैसों के लिए जहां भाई-भाई की जान का दुश्‍मन बन जाता है। वहीं समाज में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो ईमानदारी का उदाहरण पेश कर दूसरों के लिए मिसाल कायम कर देते हैं। इन्‍हीं में से एक हैं ढिगावा मंडी के बलराम स्‍वामी। जिन्‍होंने बैंक के बाहर गिरे मिले रुपयों को पास रखने की बजाय लौटा दिया।
गांव खरकड़ी बावनवाली निवासी बलराम स्वामी आधार कार्ड अपडेट करवाने एसबीआई बैंक ढिगावा मंडी आए थे। तभी एसबीआई बैंक ढिगावा मंडी के बाहर 50 हजार रुपये पड़े मिले। बलराम स्वामी ने इंसानियत का परिचय देते हुए बैंक के बाहर गिरे हुए मिले उठाकर सीधा बैंक मैनेजर के पास पहुंच गए।
फिर घटना के बारे में अवगत करवाया। बुजुर्ग बलराम स्वामी की ईमानदारी को देखकर बैंक मैनेजर अपने केबिन से बाहर आया और वहां पर मौजूद कर्मचारी और दर्जनों लोगों को इस ईमानदारी के बारे में बताया। मैनेजर ने इस वाकये की वीडियो भी बना ली और फिर इसे सोशल मीडिया पर वायरल भी कर दिया।
बलराम स्वामी ने बताया कि वह बैंक में आधार कार्ड अपडेट करवाने के लिए जा रहा था तभी बैंक के बाहर 50 हजार रुपये पड़े मिले उन पैसों को मैंने उठाकर सोचा कि इन पैसों को उनके असली मालिक तक पहुंचाना जरूरी है। मालिक नहीं मिला तो मैं बैंक के गार्ड के पास पहुंचा, उसने मुझे मैनेजर से मिलने के लिए कहा। इसके बाद मैनें रुपये एसबीआई बैंक मैनेजर को सौंप दिए।
एसबीआई बैंक ढिगावा मंडी के मैनेजर एसके रावत ने बताया कि बुजुर्ग बलराम स्वामी ने ईमानदारी का परिचय दिया है। 50 हजार रुपये की राशि बैंक में लौटा कर महान कार्य किया है, दूसरों को इससे सीख लेनी चाहिए। हमने भी 50 हजार रुपये मालिक को सुपुर्द कर दिए हैं।