Yuva Haryana
कावड़ यात्रा मार्ग में हर कदम पर रखी जा रही ड्रोन से निगरानी, भारी वाहनों की एंट्री हुई बिल्कुल बंद, कावड़ियों और आमजन की सुरक्षा का रखा जा रहा पूरा ध्यान
 
पिछले कई सालों से महामारी की वजह से कावड़ यात्रा बंद करी गई थी। और इस बार आस्था का भारी सैलाब देखने को मिल रहा है। इसे मध्य नजर रखते हुए पुलिस प्रशासन की ओर से सारे बंदोबस्त किए जा रहे हैं और बाहरी वाहनों की एंट्री इस बार कावड़ यात्रा में पूरी तरह से बंद कर दी गई है। यदि कोई भी भारी वाहन लेकर आता है तो उस पर कानूनी कार्यवाही होगी। इसी के साथ उत्तर प्रदेश हरियाणा के कलानौर बॉर्डर पर सभी चीजों पर ड्रोन से निगरानी रखी जा रही है। जिससे कावड़ियों की भीड़ पर नजर रखी जा सके और अगर कोई परेशानी होती है। तो तुरंत पुलिस सहायता वहां पहुंच जाए इससे पुलिस आगे के रूटों की भी व्यवस्था को सुचारू रख पाएगी।
वही उत्तर प्रदेश हरियाणा के कलानौर बॉर्डर पर पुलिस अधिकारियों के बीच सभी व्यवस्था के लिए बैठक हो चुकी है और यात्रियों को शांतिपूर्वक संपन्न कराने के आदेश भी दिए गए हैं। इसमें 18 जगहों पर नाके भी लगाए गए हैं जहां पर पुलिस 24 घंटे तैनात रहेगी। कावड़ यात्रा के चलने से सड़कों पर डायवर्जन भी किया गया है। पुलिस ने सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए भारी वाहनों को डायवर्ट किया है और भारी वाहन लाडवा की तरफ से आ रहे हैं, और उन्हें कालाअंब पांवटा साहिब जाना है। और इन वाहनों को सरस्वती नगर ताला कोर के रोड से होते हुए बिलासपुर, छछरौली से होते हुए आगे जाना होगा और इसी रहों में जो वाहन अंबाला की तरफ से हरिद्वार ,रुडकी जाने के लिए आ रहे हैं उन्हें दौसडका चौक से जाना होगा।
इसी बीच यमुनानगर के यमुना नहर में काफी कावड़िया नहर में नहाने जाते हैं जिससे बड़े हादसे का खतरा बना होता है। बहरामपुर, सहानपुर मार्ग पर पश्चिमी यमुना नहर पुल पर भी टीमें तैनात की गई है कि किसी भी तरह का हमला ना हो और सभी का ध्यान रखा जाए इसके चलते यहां पर मोटर बोट की व्यवस्था भी की गई है जिससे स्थिति में इसका प्रयोग करा जा सके। इसी रास्ते में कांवड़ मार्ग मैं साइन बोर्ड भी लगाए गए हैं, कि इन को ध्यान में रखते हुए कावड़ यात्रा चल सके और वाहनों को धीरे चलाने के आदेश और संकेतक भी दिए गए हैं। इससे ना तो आम जनता को परेशानी होगी और ना ही कावड़ियों को और नहर के किनारे साइन बोर्ड लगाए गए हैं जिससे लोग नहर में ना नहाए।