Yuva Haryana
हरियाणा के वाहन चालक हो जाएं सावधान अगर अपने पास नहीं रखा यह सर्टिफिकेट तो, हो सकता है लाखों का नुकसान
 
राजधानी दिल्ली में वाहनों से होने वाले प्रदूषण पर रोक लगाने के लिए दिल्ली सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने बनाया वैध प्रदूषण नियंत्रण प्रमाण पत्र वाले वाहन मालिकों को नोटिस भेजना शुरू कर दिया है। दिल्ली सरकार के एक अधिकारी ने जानकारी देते हुए कहा कि ऐसे लोग या तो प्रमाण पत्र हासिल कर लें। अन्यथा जुर्माना भरने की तैयारी कर ले अधिकारी ने बताया कि फिलहाल राजधानी में 13 लाख टू व्हीकल और तीन लाख गाड़ियां सहित ऐसे वाहनों का आंकड़ा लगभग 17 लाख है जो बिना पीयूसी सर्टिफिकेट के अपने वाहनों को सड़कों पर दौड़ रहे हैं । उन्होंने बताया कि हमने इन वाहन मालिकों को मैसेज भेजकर सूचित किया है, कि समय रहते आप पीयूसी सर्टिफिकेट प्राप्त कर ले वरना उन्हें जुर्माने के रूप में भारी राशि देनी होगी । 
दिल्ली सरकार के अधिकारी ने बताया कि राजधानी में 973 स्थानों पर प्रदूषण की जांच कर पीयूसी सर्टिफिकेट प्राप्त किया जा सकता है। इसमें लगभग सभी पेट्रोल पंप भी शामिल है। उन्होंने बताया कि पेट्रोल और सीएनजी के चलने वाले टू व्हीकल और तीन व्हीकल वाहनों के लिए प्रदूषण जांच का शुल्क केवल ₹60 हैं। सरकारी अधिकारियों ने बताया कि वैध पीयूसी सर्टिफिकेट के बिना पकड़े जाने पर वाहन मालिकों को मोटर अधिनियम के तहत 6 महीने तक की सजा ₹10, 000 का जुर्माना या फिर दोनों हो सकते हैं। उन्होंने बताया कि दो-तीन महीने के भीतर सर्दी का मौसम आ रहा है। हमें यह सुनिश्चित करना है कि हम कुछ हद तक वाहनों से होने वाले प्रदूषण पर रोक लगाने के लिए समय रहते जरूरी कदम उठाएं।