Yuva Haryana
राष्ट्रपति भवन में रहेंगी द्रौपदी मुर्मू, 340 होंगे कमरे, जानिए कितने वेतन के साथ और क्या मिलेंगी सुविधा ?
 
देश को अपना 15वां राष्ट्रपति मिल चुका है, ये पूरे हिंदुस्तान के लिए गौरव का पल है क्योंकि भारत के सर्वोच्च पद एक आदिवासी महिला आसीन होने जा रही हैं। 25 जुलाई को जब द्रौपदी मुर्मू का शपथ ग्रहण समारोह होगा तो इस शपथ के साथ ही 64 वर्ष की द्रोपदी मुर्मू देश की सबसे युवा राष्ट्रपति भी बन जाएंगी, फिलहाल अभी तक ये गौरव देश के पूर्व राष्ट्रपति नीलम संजीव रेड्डी को प्राप्त है, जो कि भारत के 6ठे प्रेसिडेंट थे।
64 साल एक महीना चार दिन
उनकी महामहिम की कुर्सी पर बैठते वक्त 64 साल 2 महीने 6 दिन उम्र थी तो वहीं मुर्मू इस कुर्सी पर 64 साल एक महीना चार दिन की उम्र पर आसीन होंगी। मालूम हो कि राष्ट्रपति भारत का पहला नागरिक होता है और उसके पास कुछ विशेषाधिकार होते हैं लेकिन उसे भी सैलरी दी जाती है। अब सवाल ये उठता है कि भारत के राष्ट्रपति की सैलरी कितनी होती है?
तो चलिए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से...
भारत देश के महामहिम को 5 लाख रुपये मासिक सैलरी मिलती हैं। इसका मतलब ये है कि इंडिया के प्रेसिडेंट देश की उच्चतम वेतन पाने वाले कर्मचारियों में से एक हैं। इसके अलावा राष्ट्रपति को रहने को भवन, फ्री मेडिकल सुविधा, फ्री घूमने की सुविधा, फ्री डोमेस्टिक हेल्प भी दिया जाता है।
राष्ट्रपति भवन में कुल 340 कमरे 
प्रेसिडेंट के पास खुद का पांच लोगों पर्सनल स्टॉफ होता है, जबकि राष्ट्रपति की देखरेख में करीब 200 लोग लगे होते हैं क्योंकि राष्ट्रपति भवन में कुल 340 कमरे हैं। इसके अलावा राष्ट्रपति के पास प्रीमियम कार होती है। ये सारी लग्जरी कारें बुलेटप्रूफ होती हैं।
सशस्त्र बलों की विशिष्ट इकाई
तो वहीं अंगरक्षक, भारतीय सशस्त्र बलों की एक विशिष्ट इकाई, राष्ट्रपति की सुरक्षा करती है। ये सभी ज्यादातर तीन सशस्त्र सेवाओं से होते हैं।ये सभी ज्यादातर तीन सशस्त्र सेवाओं से होते हैं। उनमें से ज्यादातर elite soldier होते हैं।
सेवानिवृत्ति लाभ
तो वहीं सेवानिवृत्ति के बाद राष्ट्रपति को 1.5 लाख प्रति माह पेंशन मिलती है। राष्ट्रपति की पत्नी को भी प्रति माह 30,000 रुपये मिलते हैं। उन्हें रहने के लिए किराया मुक्त बंगला भी मिलता है। जिसमें वे अधिकतम पांच कर्मचारी रख सकते हैं और साथ ही मुफ्त ट्रेन या हवाई यात्रा का भी लाभ मिलता है।