Yuva Haryana
मंत्री कमल गुप्ता के सामने बाढड़ा नगरपालिका का दर्जा खत्म करने की मांग, वापिस ग्राम पंचायत में होना चाहते हैं शामिल
 

हरियाणा के चरखी दादरी जिले के बाढड़ा और हंसावास खुर्द के ग्रामीण पूर्व विधायक और किसान मोर्चा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुखविंदर मांढ़ी के नेतृत्व में हिसार पहुंचे और राज्य के नगर निकाय मंत्री डॉ कमल गुप्ता से मुलाकात कर बाढड़ा नगरपालिका का दर्जा वापस लेने की मांग की. 

साथ ही मंत्री ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि उनकी मांग पर वह अधिकारियों से सलाह मशविरा कर गंभीरता से आगे की कार्रवाई करेंगे. यदि दोनों गांवों के ग्रामीण नगर पालिका के बजाय ग्राम पंचायत का दर्जा चाहते हैं तो वे सीएम मनोहर लाल को स्थिति से अवगत कराएंगे और जनता की भावनाओं के आधार पर अगला निर्णय लेंगे.

पूर्व विधायक सुखविंदर मांढ़ी ने कहा कि बाढड़ा ग्रामीण क्षेत्र है और आय के अभाव में शहरी विकास को प्राथमिकता देने के लिए नए कर लगाए जा रहे हैं. पंचायत समिति के अध्यक्ष भल्लेराम बद्रा और जाट सभा सचिव विधानानंद ने बताया कि इन दोनों गांवों की आबादी बहुत कम है और यहां पूर्ण ग्रामीण क्षेत्र हैं.

दोनों गांवों के ग्रामीण सर्वसम्मति से नगर पालिका की जगह ग्राम पंचायत का दर्जा पाना चाहते हैं। उधर, नगर मंत्री डॉ. कमल गुप्ता ने कहा कि दादरी जिला उनका दूसरा घर है. प्रदेश की भाजपा सरकार ने जनभावनाओं के आधार पर कमेटी बनाकर दादरी को जिला और बद्रा को अनुमंडल का दर्जा दिया.

अब इन दोनों को बड़े शहरों के रूप में विकसित करने के लिए सीएम मनोहर लाल ने यहां उपमंडल, जिला सचिवालय और अन्य विभागों के प्रशासनिक भवनों के लिए तीन सौ करोड़ की राशि आवंटित की है. यदि बाढड़ा क्षेत्र के ग्रामीण विकास योजनाओं का संचालन नगर पालिका के बजाय ग्राम पंचायत के माध्यम से कराना चाहते हैं तो वे मुख्यमंत्री को स्थिति से अवगत कराएंगे और उनकी मांगों को पूरा करने का प्रयास करेंगे.