Yuva Haryana
हरियाणा में चार अगस्त तक अच्छी बारिश की संभावना, प्रदेश के ये जिले होंगे प्रभावित
 

मानसून की टर्फ रेखा उत्तर में तराई क्षेत्र की ओर खिसक गई है। इसके असर से हरियाणा प्रदेश के उत्तरी जिलों में 4 अगस्त तक मध्यम बारिश होगी। कहीं-कहीं भारी बारिश की भी संभावना है। मौसम विशेषज्ञ के अनुसार इसके बाद टर्फ रेखा राजस्थान की तरफ खिसकेगी, जिससे बारिश की गतिविधियां में फिर से बदलाव आएगा।

मौसम विशेषज्ञ डॉ. चंद्रमोहन ने बताया कि शनिवार को मानसून टर्फ रेखा पंजाब के फरीदकोट से रोहतक, मोदीनगर, कुशीनगर, अगरतला होते हुए बंगाल की खाड़ी तक गई हुई है। साथ ही साथ बंगाल की खाड़ी पर एक चक्रवातीय हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। इसके अलावा वर्तमान समय पंजाब पर एक प्रेरित चक्रवातीय परिसंचरण बना हुआ है।

इसके असर से अगस्त के पहले सप्ताह में उत्तरी हरियाणा के जिलों पंचकूला, अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, करनाल, कैथल, सिरसा व फतेहाबाद  में ज्यादातर स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश और कुछ स्थानों पर तीव्र और मूसलाधार बारिश की गतिविधियां देखने को मिलेगी।

शेष हरियाणा में सीमित स्थानों पर हल्की बिखराव वाली बारिश की गतिविधियों को दर्ज किया जाएगा। शनिवार को प्रदेश में अधिकतम तापमान 31.0 से 33.0 डिग्री और न्यूनतम तापमान 23.0 से 27.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इस दौरान पंचकूला, अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, करनाल, कैथल, पानीपत, सिरसा, फतेहाबाद, हिसार में बिखराव वाली बारिश की गतिविधियों को दर्ज किया गया।