Yuva Haryana
सी.एम. फ्लाइंग स्क्वायड ने सरकारी व गैर-सरकारी विभागों व संस्थानों पर 344 छापेमारी कीं
 

हरियाणा सी . एम . फ्लाईंग स्क्वाड ( सी.एम.एफ.एस. ) द्वारा पिछले तीन माह के दौरान विभिन्न सरकारी तथा गैर सरकारी विभागों व संस्थानों पर कुल 344 छापेमारी की गई।


इस संबंध में जानकारी देते हुए एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि इन छापों में मुख्यतः 58 मामले खाद्य पदार्थों में मिलावट के , 59 मामले अवैध बार व अहाता चलाने के, 34 मामले जीएसटी चोरी क,े  33 मामले अवैध रूप से शराब की तस्करी के,  22 मामले ओवरलोड के,14 मामले अवैध माइनिंग के तथा  08 मामले नकली बायोडीजल व पेट्रोलियम पदार्थों के शामिल हैं ।


उन्होंने बताया कि अवैध निर्माण , अवैध आर.ओ. प्लांट , झोलाछाप डॉक्टर्स , घरेलू गैस सिलेण्डरों की कालाबाजारी , ईंट - भट्टों द्वारा प्रदूषण , हुक्का बार तथा अवैध तरीके से सरकारी राशन का स्टॉक करने के मामलों पर भी निरन्तर छापेमारी की गई है। छापेमारी के दौरान 265 मुकदमे दर्ज करते हुए , अब तक 126 लोगों को गिरफ्तार किया गया।


प्रवक्ता ने बताया कि  सी . एम . एफ . एस . द्वारा उपरोक्त अवधि में जीएसटी चोरी करने वाले ट्रांसपोर्टर्स के ट्रकों को राउंडअप करके टैक्स विभाग से लगभग 3,33,58,295 रुपए का जुर्माना वसूल करवाया गया है। इस अवधि में बिजली चोरी को पकड़ कर 17,78,660 रूपये तथा ओवरलोड वाहनांे पर 71,10,913 रूपये का जुर्माना वसूल करवाया गया । इसी तरह शराब माफिया पर छापेमारी कर 189 पेटी अंग्रेजी शराब व 1525 पेटी देशी शराब तथा 357 बोतल नाजायज शराब बरामद की गई ।


उन्होंने बताया कि सी.एम.एफ.एस. द्वारा 11 जून को खाद्य एवं आपूर्ति विभाग यमुनानगर के गोदाम पर रेड की गई । इस दौरान गेहूँ की बोरियों का वजन बढ़ाने हेतु उन पर पानी का छिड़काव करते हुए लखविन्द्र सिंह वासी साहपुर व नितिन कुमार वासी इन्द्री को काबू करके पूछताछ की गई । इस सम्बन्ध में निरीक्षक, खाद्य एवं आपूर्ति व चौकीदार आदि के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत मामला जगाधरी में दर्ज करवाया गया । इसी प्रकार, सी.एम.एफ.एस. द्वारा 24 जून को खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के अधिकारियों को साथ लेकर नरवाना जीन्द के वार्ड न.17 के सरकारी राशन वितरण डिपो को चौक किया गया । इस दौरान 919 किलो गेहूँ व 112 किलो चीनी का स्टॉक अधिक पाया गया। इसके अलावा, 10 जुलाई को हैफेड के पुण्डरी गोदाम की चौकिंग के दौरान 611 बोरियों में 15- 18 किलो वजन प्रति बोरी कम पाया गया । इस सम्बन्ध में थाना पुण्डरी में मामला दर्ज करवाया गया ।


प्रवक्ता ने बताया कि सी.एम.एफ.एस. द्वारा 07 जुलाई को ड्रग कंट्रोल अधिकारी को साथ लेकर दवाईयां बनाने की कम्पनी बेसिल फार्मा पर रेड की गई , जहां बगैर लाईसैंस के 14 प्रकार की अंग्रेजी दवाई व पैकिंग मशीन पाई गई । जिस पर थाना सिविल लाईन जीन्द दर्ज करवाते हुए 02 आरोपियों को गिरफतार किया गया । उन्होंने बताया कि 11 जुलाई को ऐसे सरकारी डॉक्टरों पर रेड की गई जो या तो स्वयं के प्राईवेट हस्पताल चला रहे है या प्राईवेट हस्पतालों में जाकर प्रैक्टिस करते हैं । रेड के दौरान कैथल सिविल हस्पताल में तैनात एक महिला डॉक्टर को चण्डीगढ हस्पताल कैथल के ओपीडी रूम में प्रैक्टिस करते पाया गया जिनके विरूद्ध रिपोर्ट तैयार करके सी.एम.ओ. कैथल को दी गई ।


उन्होंने बताया कि  सी.एम.एफ.एस. द्वारा 14 जुलाई को सुबह 9.30 बजे नगर निगम पानीपत के कार्यालय का औचक निरीक्षण किया गया । इस दौरान पाया गया कि 61 कर्मचारी समय पर कार्यालय नहीं पहुंचे थे तथा पैंडिग कार्य व फाईलों के निरीक्षण करने पर लगभग 242 सी . एम . विण्डो की शिकायतों की जांच लम्बित पाई गई । इसके अतिरिक्त नगर निगम पानीपत द्वारा करवाये जा रहे विकास कार्याे में 49 मामलों के शुरूआती अनुमानित बजट में वृद्धि की जानी पाई गई । प्रोपर्टी आई.डी. बनवाने के 722 आवेदन , जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने के 62 आवेदन लम्बित पाये गये ।


प्रवक्ता ने बताया कि 02 अगस्त को स्वयंसेवी संस्था की संचालिका द्वारा सी.एम.एफ.एस. द्वारा बनाये गये फर्जी ग्राहक को 15 दिन के शिशु को 1 लाख 50 हजार बेचने के लिए उनके विरूद्ध थाना शहर बल्लभगढ में मामला दर्ज करवाया गया ।


इसी प्रकार, 12 अगस्त को सी.एम.एफ.एस. द्वारा उपमण्डल अधिकारी दादरी को साथ लेकर उपमण्डल कार्यालय दादरी में औचक निरीक्षण किया गया । इस दौरान कार्यालय की विभिन्न शाखाओं में तैनात कुल 49 कर्मचारियों में से 32 गैरहाजिर पाए गए। इसके अलावा, 30 अगस्त को खाण्डसा रोड गुरुग्राम में फर्जी आधार कार्ड तैयार करने वालों के खिलाफ सी.एम.एफ.एस द्वारा थाना शिवाजी नगर गुरुग्राम मे दर्ज करवाया गया।